जज्बे को सलाम, 62 साल में बनी बॉडी बिल्डर

1594
9
गीतांजलि पोस्ट  (श्याम मारू,बीकानेर) ……….. कहतें हैं कि यदि मन में लगन हो तो सीमाएं बाधा नहीं बनती, न धन की, शक्ति की, न लम्बाई-चौड़ाई की और न ही उम्र की। अमरीका की डॉ. मिमि सेकॉर की उपलब्धि की बात करें तो यकीन नहीं होता।
dr-mimi-secor-04
डॉ. मिमि ने ६१ साल की उम्र में बॉडी बिल्डिंग की पे्रक्टिस आरम्भ की और अगले साल यानी २०१६ दिसम्बर के प्रथम सप्ताह में ६२ साल की उम्र में बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशिप जीत ली। डॉ. मिमि की बेटी केट सेकॉर ने अपनी मां को  प्रोत्साहित किया। पिछले साल से डॉ. मिमि ने अभ्यास किया और लगभग ४० पाउंड और १२ इंच फैट कम किया। फिटनेस के लिए पर्सनल ट्रेनर रखा। ट्रेनर बिल एंगर ने काफी मेहनत की। डॉ. मिमि जिम में कड़ी मेहनत करने लगी और कुछ ही दिनों में उसे परिणाम मिलने लगे।
dr-mimi-secor-02
मात्र छह महीनों में उसने बड़ा आत्म विश्वास हासिल कर लिया और अमरीका के रोहोड प्रांत में गत १९ नवम्बर को हुई बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशिप में भाग्य आजमाया। हालांकि तब उसे अभ्यास करते हुए ज्यादा समय नहीं हुआ था लेकिन फिर भी वह पांचवे स्थान पर रही।
dr-mimi-secor-03
इसके बाद उसने अगली चैम्पियनशिप में च्च्ष्ठद्गड्ढह्वह्ल ड्डह्ल ६२ज्ज् टैग के साथ उसने इसी चैम्पियनशिप में पुन: हिस्सा लिया। उसकी ४० वर्ष से उपर की श्रेणी थी। नौसिखिया होने के बावजूद डॉ. मिमि ने पहला पड़ाव आसानी से पार कर लिया और दूसरे पड़ाव मेंं निर्णायकों के प्रश्नों के उत्तर दिए।
dr-mimi-secor-05
सभी ने तब आश्चर्य जताया  जब ६२ की उम्र में प्रथम प्रवेश टैगलाइन के साथ रिंग में उतरने वाली डा मिमि सेकॉर को विजेता  घोषित कर दिया गया। गत ४ दिसम्बर को अमरीकी प्रांत में हुई इस चैम्पियनशिप को देखने और डॉ मिमि का हौसला बढ़ाने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। डॉ मिमि का कहना है कि  ६२ साल की उम्र में मेरे लिए ‘कन्फर्ट जोन’ से बाहर निकलना जरा मुश्किल था लेकिन इरादा बुलंद होतो हर मुश्किल आसान हो जाती है।
dr-mimi-secor-01
डॉ मिमि पिछले ४० साल से बोर्ड सर्टिफाइड फैमिली नर्स के रूप में काम कर रही है। स्वास्थ्य विषयों पर उसकी अच्छी पकड़ है और वह पूरे अमरीका में लेक्चर देने जाती है। अब उसने तय किया है कि बड़ी उम्र की महिलाओं को वह प्रेरित करेगी। वह समझाएगी,‘अभी देर नहीं हुई है, शुरू हो जाओ।’ इस आदर्श वाक्य के साथ वह पूरे अमरीका में उम्रदराज महिलाओं को प्रेरित करेगी और उनके सपनों को सच करने का रास्ता दिखाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here