मानसिक तनाव को राहत देने में सुगंध लाभदायक

421
18
गीतांजलि पोस्ट श्रेयांस लूनकरनसर
यदि आप मानसिक तनाव में रहते हैं। घर में खुशियां नहीं हैं या किसी प्रकार का संताप रहता है, तो मात्र तीन प्रकार की सुगंध आपका जीवन बद देगी। आजमाकर देंखे। कमाल हो जाएगा। हिंदू धर्मानुसार सुगंध से आपका मस्तिष्क बदलता है, सोच बदलती है और सोच से भविष्य बदल जाता है। सुगंध आपके विचार और भावनाओं को बदलने की क्षमता रखती है। घर में प्रतिदिन सुगंध फैलाएं। सिर्फ तीन सुगंध से बदलेगा भविष्य……….
1.चंदन
चंदन के कई प्रकार हैं:- हरि चंदन, गोपी चंदन, सफेद चंदन, लाल चंदन, गोमती और गोकुल चंदन। जिस स्थान पर प्रतिदिन चंदन घीसा जाता है वहां का वातावरण  हमेशा शुद्ध और पवित्र बना रहता है।
2.गुड़-घी की सुगंध
इसे धूप या अग्निहोत्र सुगंध भी कह सकते हैं। गुड़ और घी मिलाकर उसे कंडे पर जलाएं। इसकी सुगंध से मानसिक संताप मिट जाएंगे। आप चाहें तो इसमें थोड़ा-सा गुग्गुल भी डाल सकते हैं। इसके साथ अलग से कर्पूर भी जलाया जा सकता है। गुड़, घी, कर्पूर और गुग्गल को मिक्स करने एक कंडे पर जलाएं। इस मिश्रण में कर्पूर की मात्र कम ही रखें।
3. रातरानी
एक टब पानी में इसके 15-20 फूलों के गुच्छे डाल दें। इसे घर में कहीं भी उचित स्थान पर रख दें या घर के बाहर रातरानी का एक पौधा लगा दें। रातरानी की सुगंध आपको चमत्कारिक रूप से मानसिक शांति देगी और कई तरह के रोग भी मिटा देगी।
उपरोक्त तीन तरह की सुगंध का उपयोग करते रहने सेजीवन के सारे संताप मिट जाएंगे और शांति एवं खुशी पाएंगे। उक्त सुगंधों का कुछ दिनों के अंतराल में समय समय पर उपयोग करते रहने से जहां आपका दिमाग शांत हो जाएगा वहीं खुशियों का द्वार भी खुल जाएगा। जहां शांति और प्रसन्नता रहती है वहीं लक्ष्मी का आगमन होता है। शांति और खुशी से रहने वाले परिवार के बीच रोग और शोक कभी नहीं रहता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here