Main Menu

प्रसार प्रचार सामिति की बैठक हुई आयोजित।किया बूंदी उत्सव के पोस्टर का विमोचन

GEETANJALI POST
बूंदी। बूंदी उत्सव के बहुरंगी पोस्टर का विमोचन गुरूवार को  कलक्टे्रट सभागार में जिला कलक्टर शिवांगी स्वर्णकार ने बूंदी उत्सव-2017 के पोस्टर का विमोचन किया। पोस्टर में बूंदी चित्रशैली, 84 खंभों की छतरी एवं बूंदी उत्सव के कार्यक्रम को खूबसूरती के साथ दर्शाया गया है।
 
प्रचार प्रसार के लिए रखे सुझाव
इससे पूर्व बूंदी उत्सव प्रसार प्रचार सामिति की बैठक भी आयोजित हुई। इसमें मीडिया प्रतिनिधियों एवं अन्य सदस्यों ने अधिकाधिक जन भागीदारी के लिए बहुमूल्य सुझाव रखे। बैठक में समिति सदस्यों ने बूंदी उत्सव के पंपलेट छपवाकर बंटवाने तथा माईकिंग करवाने का सुझाव रखा। बाहर के मीडिया संस्थानों को उत्सव के आमंत्रण भिजवाने, बूंदी उत्सव-2017 के आमंत्रण संबंधी ब्लक मैसेज भिजवाने, जन जुड़ाव के लिए विभिन्न समाजों को दायित्व सौंपने तथा बूंदी शहर के प्रमुख स्थलों पर बूंदी की एतिहासिक विरासत के होर्डिंग्स लगवाने आदि सुझाव रखे। 
 
6 से 8 नवंबर तक बिखरेंगे लोक संस्कृति के रंग
 हाडौती की विरासत और संस्कृति की जीवंत झांकी दिखाने वाला जन प्रिय उत्सव बूंदी उत्सव इस बार 6 से 8 नवंबर तक मनाया जाएगा। इसमें तीन दिन तक कला संस्कृति की भव्य रंगोली सजेगी और विदेशी पावणों को रिझाने के लिए लोकरंग की इन्द्रधनुषी छटा बिखरेगी। गुरूवार को बूंदी उत्सव आयोजन समिति की बैठक में कार्यक्रमों को अंतिम रूप दिया गया। बैठक में विभिन्न समाजों के प्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों ने अपने सुझाव रखे।
बैठक में रखे सुझावों पर जिला कलक्टर शिवांगी स्वर्णकार ने कहा कि नवल सागर झील की सफाई का कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ कल से ही शुरू करा दिया जाएगा। गंदगी डालने वालों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ेे व्यक्तियों की भागीदारी से सभी को बूंदी उत्सव का हिस्सा बनाया जाएगा। ऐसे कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे जो विदेशी पावणों को आकर्षित करें। वे हमारी विरासत को जान सकें। शोभायात्रा में विभिन्न समाजों की शिरकत हो, बूंदी के ऐतिहासिक स्थानों की झांकियां भी इसमें शामिल की जाएगी। 
पुष्कर मेले में जाएगा प्रचार प्रसार दल 
बूंदी उत्सव के प्रचार प्रसार के लिए एक दल पुष्कर मेले में भेजन के निर्देश सहायक पर्यटन अधिकारी को दिए गए है, ताकि वहां आने वाले विदेशी पर्यटकों को इसकी जानकारी हो सके और इसमें भाग ले सकें। 
गणेश पूजा से होगा शुभारंभ, हर दिन होगा खास 
बूंदी उत्सव-2017 का शुभारंभ 6 नवंबर को सुबह 8.30 बजे गढ़ पैलेस स्थित गढ़ गणेश की पूजा से होगा। इसके बाद सुबह 9 बजे लोक संस्कृति समेटे हुए भव्य शोभायात्रा आरंभ होगी। शोभायात्रा खेल संकुल पर सम्पन्न होगी। खेल संकुल में सुबह 11 बजे से विविध प्रतिस्पर्धाएं शुरू होगी। खेल संकुल पर रस्सा-कस्सी, मूंछ प्रतियोगिता, साफा बांधना, घुड़ दौड़, ऊंट दौड़, पणिहारी दौड़, राजस्थानी वेशभूषा आदि रोमांचक प्रतिस्पर्धाएं होगी। दोपहर 12 बजे पुलिस परेड ग्राउण्ड पर सेना एवं आरएसी के सिन्फोनिऐटा की प्रस्तुति होगी। दोपहर 12.30 बजे देशी एवं विदेशी सैलानियों के बीच कबड्डी का मैच होगा। अपरान्ह 3.30 बजे आर्ट गैलेरी में आयोजित चित्रकला प्रदर्शनी का शुभारंभ होगा। शाम 5 बजे बाणगंगा में दीपदान तथा रात 8 बजे 84 खंभों की छतरी पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। 
उत्सव के कार्यक्रमों के श्रृखंला में अगले दिन 7 नवंबर को सुबह 10 बजे हायर सैकेण्डरी स्कूल प्रांगण में 6 से 15 नवंबर तक आयोजित शिल्प ग्राम तथा बूंदी उद्योग मेला का शुभारंभ होगा। इसके बाद दोपहर 12.30 बजे सुखमहल में मान मनुहार कार्यक्रम आयोजित होगा। इस दौरान लोक कलाकारों की प्रस्तुतियां भी होंगी। शाम 5 बजे जैतसागर झील में दीपदान किया जाएगा तथा रात 8 बजे 84 खंभों की छतरी पर सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा। 
उत्सव के तीसरे दिन 8 नवंबर को सुबह 9 बजे विदेशी पर्यटकों को भ्रमण करवाया जाएगा। शाम साढ़े सात बजे उद्योग मेला परिसर में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। बूंदी उत्सव के तहत केशवरायपाटन, इन्द्रगढ़, लाखेरी, नैनवां, हिण्डोली में भी शोभायात्रा एवं विविध रंगारंग कार्यक्रम आयोजित होंगे। 
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (सीलिंग) ममता तिवाड़ी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र कुमार वर्मा, इंटेक संयोजक विजयराज सिंह, जिला खेल अधिकारी सुरेन्द्र सिंह,  माधवप्रसाद विजयवर्गीय, पुरूषोत्तमलाल पारीक, अशोक शर्मा, एडवोकेट राजकुमार दाधीच,पेंइग गेस्ट हाऊउ एवं होटल अध्यक्ष सुशील मेहता, विभिन्न सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी, समाजों के प्रमुख, गणमान्य नागरिक आदि उपस्थित रहे। 





Related News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *