रिक्रिएटिंग कोटा केम्पेन में चित्रकारी से दीवारें दे रही हैं संदेश

427
12
????????????????????????????????????
GEETANJALI POST (डॉ. प्रभात कुमार सिंघल)
कोटा 30 अक्टूबर। रिक्रिएटिंग कोटा केम्पन में स्ट्रीट आर्ट फेस्टिवल में शहर की दरो दिवारे अब संदेशदेने के लगी हैंै। जो दिवारे अभियान से पूर्व बेजान दिखाई देती थी, विद्यार्थियों द्वार की गई चित्रकारी के बाद वे अनायास ही लोगों को ध्यान आकर्षित कर रही है। दिवारों पर सामाजिक संदेशों के साथ साथ कोटा एवं हाडौती की पहचान हैगिंग ब्रिज, हवाई सेवा, पर्यावरण, फूल पत्तियां, पषु पक्षी की चित्रकारी ने शहर को स्मार्ट लुक प्रदान किया है।
जिला कलक्टर रोहित गुप्ता की पहल पर रिक्रिएटिंग कोटा केम्पन में स्ट्रीट आर्ट फेस्टिवल के तहत सोमवार को रैनीबाग स्थित उद्यान विभाग की चारदीवारी पर सर पदमपत सिघानियां स्कूल के 28 विद्यार्थियों ने शिक्षिका श्रीमती सुधा जैन के नेतृत्व में संदेशपरक चित्र बनाकर आमजन को जागरूक करने का सार्थक प्रयास किया है।
महिला सशक्तिकरण का दे रही संदेश
स्ट्रीट आर्ट फेस्टिवल के तहत सोमवार को बेटी बचाओं-बेटी पढाओं, शिक्षा की रोशनी से देशकी प्रगति, पशु-पक्षियों एवं उनके घरों को बचाने, मानव जीवन में योग के महत्व, नारी सषक्तिकरण, नशामुक्ति, कोटा हैगिंग ब्रिज, कोटा मंे हवाई सेवा के दृष्य को प्रदर्षित किया है।  श्रीमती सुधा जैन ने बताया कि इन पेन्टिग की मुख्य रूप से थीम सामाजिक समस्याओं को कोटा से उबारने के लिए किये जा रहे प्रयासों को दिखाया गया है। इन पेन्टिग में सिद्धार्थ राऊरे, अषोक वर्मा का भी विषेष सहयोग रहा है। सिघानियां स्कूल के मानसी कुशवाह, मानसी माहेष्वरी, कोमल गोयल, पीयूष, नमित जैन, नकुल गुप्ता, महक कौर, अक्षत अग्रवाल एंव अलिषा ने इन पेन्टिग को बनाकर आमजन को सामाजिक समरसता का संदेश दिया है।
मिल रहा भरपूर सहयोग
स्ट्रीट आर्ट फेस्टिवल के तहत की जा रही पेन्टिग में नगर विकास न्यास द्वारा विद्यार्थियों को रंग व बुरुशके साथ छाया पानी एवं चित्रकारी का सामान उपलब्ध कराया गया है। नगर निगम द्वारा दिवारों की सफाई करवाकर अन्य आवष्यक सामग्री उपलब्ध करवाकर सक्रिय सहयोग प्रदान किया जा रहा है। बजरंग टेंट हाउस द्वारा सभी पेन्टिग स्थलों पर विद्यार्थियों के लिए निःशुल्क छाया एवं फर्नीचर उपलब्ध करवाकर रिक्रिएटिंग कोटा केम्पन में सक्रिय भागीदारी निभाई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here