Main Menu

लोहार्गल मे अगले माह तक बजेगी बीएसएनएल और जीओ की ट्रिंग ट्रिंग

img-20171112-wa0006

 

 

सासंद एवं विधायक की सक्रियता ने किया तीर्थराज को डिजिटल

 

गीताजंलि पोस्ट…….(सौरभ पारीक) चिराना:- डिजीटल दुनिया के इस दौर मे जहां 4जी जैसी तेज तकनीक से सुचना प्रौद्योगिकी आगे बढ़ रही है, उसी कडी ने लम्बे समय से अरावली की सुरम्य  पहाड़ि‍यों मे बसा तीर्थराज लोहार्गल धाम अब तक इस डिजिटलाईजेशन से वंचित था। परन्तु जब सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा मुद्दा सोशल मिडिया पर उठा तो जिले की सासंद  संतोष अहलावत ने इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए  तीर्थराज लोहार्गल मे नेटवर्क के लिए अगले ही दिन केन्द्रीय दूरसंचार  मंत्री को पत्र लिख डाला। साथ ही पत्र का जवाब आते ही लोहार्गल को दूरसंचार के माध्यम से बाहरी दुनिया से जोडने का काम शुरू हो गया।  इसके बाद यहाँ के क्षेत्रिय  विधायक एवं पूर्व चिकित्सा मंत्री डॉ. राजकुमार शर्मा ने भी यहां जीओ के टावर हेतु अपनी कोशीश शुरू कर दी। जिसके बाद यहा पर जीओ के  टावर का निर्माण कार्य पुरा हो चुका है।

 

ये रहा देरी का कारण एवं प्रमुख रूकावटें :-लोहार्गल तीर्थस्थल को   संचार माध्यमों से जुडना और जोडना इतना आसान काम नही था।  अरावली की वादियों मे स्थित होने के कारण यहाँ पर नेटवर्क की फ्रिक्वेंसी मिलना आसान नही था। साथ ही पहाडी क्षेत्र मे खुदाई एवं टावर निर्माण के भारी भरकम सामान को पहुंचाना भी अपने आप मे एक कशमकश ही थी। साथ ही क्षेत्र में हो रहे राजनितीकरण की वजह से भी टावर लगने के स्थानों में भी रूकावटों का सामना करना पड़ा । माईक्रोवेव रेडियेशन फ्रिक्वेंसी जांचने आई दूरसंचार टीम ने फ्रीक्वेंसी जांचने के लिये मालकेत की ऊंची चोटी पर चढ़कर भी प्रयास किया, परन्तु पहाडी क्षेत्र होने के कारण कामयाबी नही मिली। जिसके बाद बीएसएनएल ने  यहाँ नेटवर्क के लिये फाईबर  लाईन डालने का कार्य शुरू किया ।  लगभग पांच किलोमिटर लम्बी पहाडी के रास्ते में गहरी  खुदाई कर लाईन डालना भी आसान काम नही था। जिससे की इस कार्य को पुरा करने में और अधिक समय लग गया और कार्य धीमा हो गया परन्तु लगभग डेढं साल से लगातार चल रहे इस प्रयास का अन्तिम परिणाम कुछ ही दिनों मे हमारे सामने होगा।

 

रेलवे की परमिशन मे देरी से जीओ रहा पिछे:- रिलायंस जिओ को फाईबर लाईन डालने के लिये रेलवे की परमिशन ना मिलने के कारण विलम्ब का सामना करना पडा। रिलायंस जीओ के नवलगढ़ इंचार्ज अरूण शर्मा  बताते है कि फिलहाल रेलवे से परमिशन मिल चुकी है, दिसंबर में जीओ लोहार्गल मे चालु हो जायेगा।

 

खडा हो चुका है टावर व बिछ चुकी है लाईन:-लोहार्गल मे एक तरफ बीएसएनएल की फाईबर लाईन गोल्याणा से डाली जा चुकी है, वहीं दूसरी तरफ रिलायंस जीओ के  टावर का निर्माण पूरा हो चुका है। जीओ की फाईबर लाईन आते ही टावर को नेटवर्क से जोड दिया जायेगा।

 

 

इनका कहना है……

 

लोहार्गल मे मोबाईल नेटवर्क की समस्या के बारे में सोशल मीडिया पर मुझे जानकारी होते ही मैने माननीय दूरसंचार मंत्री को पत्र लिखकर इस कार्य को शुरू करवा दिया। नेटवर्क फ्रिक्वेंसी ना मिलने के कारण पांच किमी लम्बी केबल डालनी पडी। जिसमें कुछ विलम्ब हो गया। कार्य जल्द ही पुरा हो जायेगा। मेरी हर संभव कोशीश जारी है।

संतोष अहलावत,

सासंद, झुन्झुनूं

 

लोहार्गल मे जीओ का नेटवर्क जल्द शुरू होने वाला है, इसके लिये टावर का निर्माण हो चुका हैं। दिसम्बर के अन्तिम सप्ताह तक सभी जिओ के तेज इन्टरनेट एवं फ्री कॉलिंग का मजा ले पायेंगे।

 

डॉ. राजकुमार शर्मा

विधायक नवलगढ़

 

माइक्रोवेव रेडियेशन नही मिल पाने की वजह से फाईबर लाईन बिछाई जा रही है, फाईबर लाईन के लिये रेलवे की परमिशन में देरी होने के कारण विलम्ब हो गया  था परन्तु नवम्बर अन्तिम या दिसम्बर के प्रथम सप्ताह तक शुरू हो जायेगा।

 

अरूण शर्मा

इंचार्ज, रिलायंस जीओ






Related News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *