ईलाज के लिये आओं,वाहन अपनी रिस्क पर लाओं

355
144

GEETANJALI POST जयपुर। (ज्योती गुप्ता) विधाद्यर नगर इलाके में बने श्री कृष्णा अस्पताल के मुख्य दरवाजे पर लगे नोटिस बोर्ड को ईलाज के लिये आने वाले मरीजों पार्किग की व्यवस्था नहीं होने से हां ईलाज के लिये आने वालों की गाडियां अस्पताल के बाहर सडक के किनारे खडा करके अस्पताल जाते हैं।

गौरतलब हैं कि श्री कृष्णा अस्पताल में वाहन पार्किग की व्यवस्था नहीं होने के कारण वहां ईलाज के लिये आने वाले मरीजों की गाडियां अस्पताल के बाहर सडक के किनारे खडी रहती हैं, सडक पर वाहन खडा करने से सडक अवरूद्व होती हैं साथ ही वाहनों की सुरक्षा की भी कोई गांरटी नहीं होती। साथ ही अस्पताल प्रशासन ने भी मुख्य दरवाजे पर कृप्या वाहन अपनी स्वय की जिम्मेदार पर खडा करे ये लिखकर नोटिस बोर्ड लगा दिया।

अस्पताल की डॉयरेक्टर डॉ अनिता गोयल ने बताया की कुछ माह पूर्व अस्पताल में ईलाज करवाने आये मरीज की अस्पताल के बाहर खडी गाडी चोरी हो गयी थी जिसकी शिकायत विद्याद्यरनगर थाने में की थी और थाने वालों के कहने से ही उन्होने अस्पताल के मुख्य दरवाजे पर ये नोटिस लगवाया हैं। अस्पताल आने वालों की गाडीयों की पार्किग के बारे में पूछने पर डॉ अनिता ने बताया की अस्पताल की ओपीडी के समय मुख्य दरवाजे पर चौकिदार होता हैं जो वहंा ईलाज करवाने आये मरीज या उनके परिजनो की गाडियों की चौकसी करता हैं।
विद्याद्यरनगर थाना इंचार्ज चिरंजीलाल मीणा ने बताया कि मामला मेरी जानकारी में नहीं हैं लेकिन हमने किसी भी अस्पताल को ऐसा नोटिस लगाने का नहंी कहा।

नियमों की अवहेलना कर दे दिया रजिस्ट्रेशन- बिना पार्किग के संचालित अस्पताल, अस्पताल के साथ-साथ जिम्मेदार अधिकारियों पर भी सवाल खडा करता हैं कि बिना पार्किग के अस्पताल का रजिस्ट्रेशन कैसे हो गया ?
उल्लेखनिय हैं सीएमओ ऑफिस में जब प्रॉइवेट अस्पतालों की ओर से रजिस्ट्रेशन के लिए एनओसी फाइल करते समय अस्पताल सारे मानकों को पूर्ण करने का दावा करते हैं।