ठिठुरते बदनो को सहारा बना मिशन शीत राहत अभियान

357

 

 

गीतांजलि पोस्ट……(विनय शर्मा) जयपुर:- असहाय मानव देखकर जो देय नही दो पल का सहारा, ऐसी जज्बे की रवानी किस काम की, कर्ज नरसेवा चुकाये बिना ढल जाये जो ,ऐसी जोशीली जवानी किस काम की । इन्ही पंक्तियो को चरितार्थ करते हुए मिशन हैल्पलाईन कोर कमेटी राजस्थान द्वारा सोमवार रात्रि को ‘ठिठुरते बदनो को सहारा – मिशन शीत राहत अभियान’ के तहत कम्बल ड्राइव का आयोजन किया गया जिसके अन्तर्गत दौसा एवं जयपुर जिले के अनेको स्थानो पर जरुरतमंदो को वस्त्र बाँटे गये  । कमेटी के संस्थापक एवं प्रदेशाध्यक्ष रोहित शर्मा ने बताया कि कमेटी द्वारा सर्दी मे ठिठुरते 11,000 लोगो को राहत पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है जिसके तहत यह क्रमशः दूसरा और तीसरा कैम्प था  ।

 

कार्यक्रम संयोजक समाजसेवी घनश्याम चतुर्वेदी एवं विजयश्री चतुर्वेदी ने बताया कि सामाजिक समरसता एवं मानवता पर केन्द्रित इस अभियान के दौरान दौसा मे गांधी तिराहे, रैलवे स्टेशन, सोमनाथ तिराहा, बस डिपो, अम्बेडकर सर्किल, नेहरु गार्डन, बर्कत स्टेच्यु एवं जिला चिकित्साल्य मे जरुरतमंदो को कंबल बाटे गये  । मध्य रात्रि उपरान्त कम्बल ड्राइव की यात्रा गुलाबीनगरी कि और निकल पडी, जहाँ सवाई मान सिंह चिकित्साल्य, जे. के. लोन चिकित्साल्य, राज. युनिवर्सिटी, एम. आई. रोड, सिंधी कैम्प, भाजपा कार्यालय के समीप, पाँच बत्ती एवं नारायण सर्किल सहित सडक फुटपाथो पर सो़ये उन दर्जनो जरूरतमंद लोगो को कम्बल बाँटे गये जो ठण्ड से ठिठुर रहे थे ।

 

कमेटी के प्रदेश संयुक्त सचिव प्रशान्त उपमन्यु ने बताया कि 9 घंटे के इस बचाव अभियान मे हमऩे वास्तविकता में मानवता को बहुत करीब से महसूस किया । जिन सोते हुये लोगो को हमने कम्बल उढाये है, प्रातः उठने के बाद वो हमारे बारे मे क्या सोचेंगे यह विचार कर हमे गर्व महसूस होता है । कमेटी के द्वारा चतुर्थ कैम्प रविवार को अलवर मे होगा ।

 

अभियान के दौरान कमेटी संरक्षक सदस्य शुभम शर्मा, पूर्व प्रदेश प्रभारी प्रवीण शर्मा, अलवर शहर अध्यक्ष अभिषेक शर्मा, दौसा प्रभारी अक्षित शर्मा, नरेन्द्र शर्मा, डॉ शुभम शर्मा, मोहित तिवाडी, उद्देश्य शर्मा, हंसराज शर्मा, नर्सिंग नेता भरत बेनिवाल, एआईएमएसए राष्ट्रीय महासचिव धीरज पाराशर, वैभव शुक्ला, नवीन पाराशर सहित अनेको समाजसेवी मौजूद रहे ।

 

यह जानकारी कमेटी के प्रदेश सचिव एवं कार्यालय प्रभारी अरविन्द जांगिड ने दी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here