Breaking News
prev next

खुले आम उड़ रही कानून की धज्जियाँ

GEETANJALI POST ( ROHIT)

झुंझुनू में खुले आम उड़ रही कानून की धज्जियाँ

15 नवम्बर के बाद अब 15 दिसम्बर को भी होगी खाप पंचायत

जयपुर। राजस्थान के झुन्झुनू जिले के चिड़ावा कस्बे की नरहड़ शरीफ दरगाह में आगामी 15 दिसम्बर को राजस्थान शेख समाज चौपदार ने कौमी मीटिंग के नाम पर खाप पंचायत बुलाने का ऐलान किया है। इसमें पिछले महीने 15 नवम्बर को आयोजित हुई खाप पंचायत में लिए गए फैसलों पर फिर से सुनवाई होने और उन फैसलों की कड़ाई से पालना पर विचार किया जाएगा। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ऐसी किसी भी खाप पंचायतों और उसमें लिए गए फैसलों को गैरकानूनी ठहरा चुका है, ऐसे में यह देखना होगा कि राज्य सरकार और प्रशासन किस तरह से इस खाप पंचायत और इसमें होने वाले फैसलों से निपटेंगे और इसे रोकेंगे। इस खाप पंचायत के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट, प्रधानमंत्री कार्यालय, राज्य के मुख्यमंत्री कार्यालय, पुलिस महानिदेशक और जिला पुलिस अधीक्षक को पत्र भेजकर इस खाप से पीड़ित एक व्यक्ति ने इस पर रोक लगाने की गुहार की है।

सूत्रों के अनुसार दिल्ली निवासी शेख समाज के एक युवक का निकाह समाज की ही मुंबई निवासी एक युवती से करीब सात साल पहले हुआ था। जिससे इनके एक छह साल की बेटी भी है। इसी साल पति पत्नी में हुए आपसी विवाद के बाद पत्नी अपने पीहर लौट गई। इसके बाद युवती के परिवार वालों ने समाज के कथित पंचों को अपने पक्ष में करके गत 15 नवम्बर को चिड़ावा की नरहड़ शरीफ दरगाह में एक खाप पंचायत बुलाई। इसमें समाज के पंचों ने युवक और उसके परिवार वालों को अपमानित करते हुए पांच साल के लिए बिरादरी से बाहर करने का फरमान जारी कर दिया। जब युवक और उसके परिजनों ने इसका विरोध किया तो उन्हें और कड़ा दण्ड देने की बात कही गई।
अब जब समाज के पंचों और युवती के परिवार वालों को पता चला कि युवक और उसके परिजन खाप के फैसले के खिलाफ संवैधानिक प्रक्रिया अपनाने की तैयारी कर रहे हैं तो समाज के पंचों ने कौमी मीटिंग के नाम पर आगामी 15 दिसम्बर को फिर से खाप पंचायत बुलाने का ऐलान किया है। इससे पूर्व पंचों ने पिछली खाप में लिए निर्णय को डूंडलोद में आयोजित एक विवाह समारोह में सर्वसम्मति से जायज ठहराते हुए समाज के लोगों से अपील की है कि कुछ लोग खाप के निर्णय की खिलाफत कर रहे हैं, इसलिए 15 दिसम्बर को होने वाली पंचायत (कौमी मीटिंग) में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचे। बताया जा रहा है कि इस खाप पंचायत में युवक और उसके परिजनों पर अन्य पाबंदियों के साथ आर्थिक दण्ड भी लगाया जा सकता है। इसी डर से युवक के परिजनों ने सरकार और प्रशासन से 15 दिसम्बर को होने वाली इस खाप पंचायत को रोकने की गुहार की है। अब देखना यह है कि सरकार और प्रशासन इस मामले को लेकर कितनी सजगता दिखाता है।

It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn





Related News

  • राज्य सरकार की चतुर्थ वर्षगांठ पर जिला स्तरीय समारोह 15 दिसंबर को
  • राजकीय चिकित्सालय पर भूमाफियाओं का कब्जा, प्रशासन मूकदर्शक
  • शौर्य दिवस पर विहिप-बजरंगदल ने किया पथ संचलन
  • अब सर्द रातों में बेसहारों को आसरा आधुनिक रैन बसेरा शुरू ,सांसद की पहल
  • ढाका में सभी वर्गों में मैच जीत कर भारतीय टीम ने किया फाइनल में प्रवेश
  • चिकित्सक रहे सामूहिक अवकाश पर ,गुस्साए लोगों ने फूंका पूतला
  • न ट्रैनिंग न किताब फिर भी परिक्षा
  • राठौड़ के नेतृत्व में ढाका में भारतीय टीम ने जीते सभी मैच
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *