लालू को मिली साढ़े तीन साल की सजा, 5 लाख रुपये का जुर्माना भी लगा

0

रांची (मुकेश पारीक)
चारा घोटाला के देवघर ट्रेजरी से जुड़े केस में शनिवार को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने सजा का एलान किया। लालू प्रसाद यादव को साढ़े तीन साल की सजा हुई। इसके अलावा कोर्ट ने उन पर पांच लाख का जुर्माना लगाया है। अगर वे जुर्माना नहीं देते तो उस स्थिति में उन्हें 6 महीने और जेल में रहना पड़ेगा। सभी 16 दोषियों ने रांची की बिरसा मुंडा जेल में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक साथ बैठकर जज शिवपाल सिंह का फैसला सुना।

तेजस्वी यादव ने कहा ज्युडिशियरी ने अपनी ड्यूटी पूरी की। हम सजा के फैसले को देखने के बाद हाईकोर्ट जाएंगे और जमानत की अपील करेंगे।

क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि चारा घोटाले से संबंधित यह देवघर कोषागार से 84.54 लाख रुपये की अवैध निकासी का मामला है। कांड संख्या आरसी 64 ए/96 के इस मामले में 23 दिसंबर को सीबीआई कोर्ट ने लालू प्रसाद को दोषी ठहराया। इस मामले में संलिप्त लोगों में शुरुआत से अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है। सरकारी गवाह पीके जायसवाल एवं सुशील झा ने निर्णय से पहले ही अपना दोष स्वीकार कर लिया था। अब 21 साल बाद चारा घोटाले के देवघर से जुड़े इस चर्चित मामले में बुधवार को सजा के बिंदु पर फैसला आ गया। इस मामले में सीबीआई ने 23 जुलाई 1997 को चार्जशीट फाइल की थी। बता दें कि देवघर कोषागार से जुड़े इस मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा भी आरोपी थे, लेकिन उन्हें कोर्ट ने बरी कर दिया। इसके साथ ही देवघर से कोषागार से जुड़े इस मामले में अन्य 6 आरोपियों को भी कोर्ट ने बरी कर दिया है. अब लालू प्रसाद के सजा के बिंदु पर फैसला आने के बाद उनके वकील आगे की रणनीति बनाने में जुट गये हैं।