रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ अनेक बीमारियों का इलाज हैं क्योरा तुलसी अर्क

0
3

 

गीतांजलि पोस्ट……..(विनय शर्मा) सांभर लेक:- आयुर्वेदिक कि नहीं एलोपैथी भी तुलसी के गुणों को मानने लगी है  विशेषज्ञो मैं स्वीकार किया है कि तुलसी मनुष्य के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक है और मलेरिया खांसी, सर्दी,जुखाम और विभिन्न जानलेवा बीमारियों से बचाती है तुलसी शरीर कि हर बिमारी को अपने दम पर ठीक करने में सक्षम है।तुलसी मुख्य रूप से 5 प्रकार की पाई जाती है जैसेः श्याम तुलसी, राम तुलसी, वन तुलसी, मरता तुलसी, जंगली तुलसी इन पांचो प्रकार को तुलसी यो का विशेष विधि द्वारा अर्क निकाल कर क्योरा तुलसी अर्क निर्माण किया जाता है यह संसार को एक बेहतरीन एंटी-आक्सीबेट,एंटी-एजिंग एंटी बैक्टीरिअल,एंटी सैष्टिक एंटी वायरल,एंटी फ्लू,एंटी बायोटिक,एंटी एन्कलामेटरी व एंटी-दिसयू है। क्योरा तुलसी अर्क कि एक बूंद एक गिलास पानी में और दो बूंद 1 लीटर पानी में डालकर उस पानी को पीना चाहिए क्योरा तुलसी अर्क स्मरण शक्ति को बढ़ाती है।क्योरा तुलसी अर्क शरीर के लाल रक्त सेल्स हिमोग्लोबिन को बढ़ाने में अत्यंत सहायक है भोजन के बाद दो तीन बूंद क्योरा तुलसी अर्क का सेवन करने से पेट संबंधी बीमारियां नहीं लगती।आग के जलने से या किसी जहरीले कीट के काटने पर क्योरा तुलसी अर्क को लगाने से विशेष राहत मिलती है यदि मुंह में किसी प्रकार की दुर्गंध आती हो तो क्योरा तुलसी अर्क की एक बूंद मुंह में डालने से दुर्गंध दूर होती है।दमा खांसी में क्योरा तुलसी अर्क दो तीन बूंद थोड़े अदरक के रस में तथा शहद या आधा कप गर्म पानी के साथ सुबह दोपहर शाम सेवन करें। दांत के दर्द,दांत में कीड़ा लगना, मसूड़ों में खून आना क्योरा तुलसी अर्क चार पांच बूंद पानी में डालकर कुल्ला करना चाहिए गले में दर्द,मुंह में छाले,आवाज बैठ जाना क्योरा तुलसीअर्क की पांच-छह बूंदे पानी में डालकर गरारे करे।क्योरा तुलसी अर्क कि दो बूंदें पतंजलि एलोवेरा जैल मैं मिलाकर चेहरे पर सुबह व रात को सोते समय लगाने पर त्वचा सुंदर व कांतिमय हो जाती है तथा चेहरे से प्रत्येक प्रकार के काले भूरे धब्बे मिट जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here