होम्यापैथी दवा जीभ पर क्यो लेते है 

0
32

गीतांजलि पोस्ट…( डॉ. पुनम कटारिया ) होम्यापैथीक दवाव का असर सही हो इसके लिए अपनी जीभ को अच्छी तरह से साफ रखे क्योकि जीभ पर नर्व एंडिग (नसो के अतिम छोर होते है इससे दवा पुरे शरीर मे अच्छी तरह से फैलती है.

img-20180210-wa0002

होम्योपैथी डॉक्टर डॉ पुनम कटारिया ने बताया है की यदि रोगी. होम्योपैथी दवा लेता है तो उसे हीगं अदरक लहसुन प्याज ओर कॉफी आदी लेने से बचना चहीए क्योकि ये तेज गंध वाली चीजे होती है साथ ही दवा लेने से10. – 15 मिनट पहले. ओर बाद तक कुछ भी. न खाएे पीए दवा की शीशी खोलकर गोलीयो को साधे मुंह मे डाल सकते है गोलियो की शीशी के ढक्कन मे लेकर व गिनकर उसी से खा ले दवा कभी भी हॉथ पर रखकर न ले हथेली के सपर्क मे आने से भी दवा का असर कम हो जाता है होम्योपैथी दवा की शीशी खुली जगह पर न ऱखे दवा को सीधे सुरज की किरणो के सपर्क से आने से भी बचाना चाहिए होम्योपैथी की दवा को सामान्य तापमान वाले स्थान पर रखे.