प्रताप जयंती पर केन्द्रीय गृहमंत्री एवं मुख्यमंत्री ने पुष्पाजंली अर्पित की

0
37

महापुरूषों के जीवन से प्रेरणा लेकर युवा पीढी आगे आएं – राजनाथ सिंह
इतिहास पुरूष महाराणा प्रताप के 475वीं जयंती वर्ष के उपलक्ष पर आज केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथसिंह एवं मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने ऐतिहासिक हल्दीघाटी में चेतक की समाधी पर पुष्पांजलि अर्पित की एवं सेमा स्टेडियम में आयोजित भव्य समारोह अपार जन समुह को सम्बोधित किया। केन्द्रीय गृहमंत्री एवं मुख्यमंत्री ने इससे पूर्व महाराणा प्रताप संग्रहालय का अवलोकन किया ।

DSC_7099
केन्द्रीय गृहमंत्री ने मंगलवार को रात्रि में खमनोर पंचायत समिति की सेमा ग्राम पंचायत के गांव मलीदा में महाराणा प्रताप स्टेडियम में प्रताप जयंती के अवसर पर आयोजित भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम के अवसर पर लगभग 15 हजार से अधिक उपस्थित दर्शकों को संबोधित करते हुए कहा कि वीर महाराणा प्रताप जैसे प्रखर राष्ट्रभक्तों के त्याग और बलिदान के कारण ही भारत आजाद हुआ है। महाराणा प्रताप को याद करते हुए मुझे लग रहा है कि आज भी हमें महाराणा प्रताप के आदर्शों को अंगीकार करने की आवश्यकता है।
उन्होंने भारत की संस्कृति और आर्थिक शक्ति पर बोलते हुए कहा कि आयुर्वेद और योग ने विश्व का नेतृत्व किया है और 177 देशों ने योग का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि अमेरिका के वैज्ञानिक केन्द्र नासा ने भी भारत के वेदों में बताए सिद्धान्तों एवं बातों को स्वीकार किया है। हमारे घर के समीप रहने वाले पंडित भी अंकिय गणित का इतना बारिकी से ज्ञान रखते है कि सौ साल पूर्व हुए चन्द्र एवं सुर्य ग्रहण की तिथि बता सकते हैं तो वहीं आने वाले सौ सालों के भी ग्रहणों की तिथि निकाल देते है। इससे यह सिद्ध होता है कि हमारी पारम्परिक विज्ञान और अंकगणित जिसका लोहा विश्व मानता है।
उन्होंने कहा कि अर्थ व्यवस्था में भारत अन्य देशों की तुलना में मजबूत है। हम सभी यह प्रेरणा ले कि भारत को हम विश्वशक्ति बनाना चाहते हैं और भारत पुन: विश्वगुरू के पद पर आसीन हो जाए। उन्होंने प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को महाराणा प्रताप की जयंती पर आयोजित कार्यक्रमों को लेकर हार्दिक बधाई भी प्रकट की।
नाटक के माध्यम से महाराणा प्रताप के शौर्य का बखान
सेमा के महाराणा प्रताप स्टेडियम में आयोजित भव्य सांस्कृतिक संख्या में प्रताप के जीवन चरित्र पर आधारित रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया। जिनमें महाराणा प्रताप के जीवन पर आधारित लघु फिल्म का प्रदर्शन किया गया जिनमें प्रताप की यशगाथा को लाईट एण्ड साउण्ड के माध्यम से हल्दीघाटी युद्ध, पन्नाधाय के त्याग और बलिदान, प्रताप सैन्य की गुप्त मंत्रणा, अश्व चेतक के बलिदान को प्रदर्शित किया गया। जिसमें प्रभु एकलिंग नाथ की महिमा भी शामिल है।
चेतक समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित
केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह एवं मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने मंगलवार सांय महाराणा प्रताप राष्ट्रीय स्मारक के समीप प्रताप के अश्व चेतक की समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित की। सिंह के साथ मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी साथ मौजूद थी। इससे पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं मुख्यमंत्री ने महाराणा प्रताप के राष्ट्रीय स्मारक का अवलोकन भी किया। इस अवसर पर हल्दीघाटी स्थित महाराणा प्रताप संग्रहालय का भी अवलोकन किया और केन्द्रीय गृह मंत्री सिंह ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के साथ वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप के ऐतिहासिक जीवन एवं प्रताप से जुडे स्थलों के विकास पर संक्षिप्त चर्चा की।