विधिक प्रक्रिया अपनाये बगैर मन्दिर तोडना धार्मिक भावनाओं का अपमान:खाचरियावास

0
348

कोर्ट के आदेशों के विपरीत मन्दिर तोडने वाले अधिकारियों के विरूद्व कानूनी कार्यवाही की जायेगी:खाचरियावास

download (5)जयपुर । राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान की भाजपा सरकार लगातार लोगो की धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड कर रही है। राजधानी जयपुर में पहले विधिक प्रक्रिया अपनाये बगैर राजगारेश्वर महादेव मन्दिर तोडा गया। जब कांग्रेस पार्टी ने यह घोषणा कर दी कि हम जयपुर की जनता को साथ में लेकर पुन: रोजगारेश्वर मन्दिर बनायेंगे तो मजबूरी में सरकार को रोजगारेश्वर मन्दिर बनाने की घोषणा करनी पडी। अब एक बार फि र राजस्थान की भाजपा सरकार विधिक प्रक्रिया अपनाये बगैर राजस्व अपील अदालत के आदेश को दरकिनार करते हुए बडी चौपड स्थित गौरीशंकर महादेव मन्दिर को तौडने जा रही है। राजस्थान की विधान सभा में स्वायत शासन मंत्री ने सदन को आवश्स्त किया था कि विधिक प्रक्रिया एंव धार्मिक प्रक्रियाओं को अपनाये बगैर अब कोई भी मन्दिर नहीं तोडा जायेगा ऐसे में राज्य सरकार एवं जिला प्रषासन देष की संविधानिक परम्पराओं का अपमान करते हुए गौरीशंकर महादेव मन्दिर को तोडने की तैयारी कर रहें है। यह पूरी तरह से गैर कानूनी और धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला है। ऐसे में यदि गौरी शंकर महादेव मन्दिर तोडा गया और कहीं टकराव की स्थिति बनी तो उसके लिए राजस्थान की सरकार व जिला प्रशासन जिम्मेदार होगा।
खाचरियावास ने कहा की भाजपा हिन्दू हितों की बात वोट लेने के लिए करती है लेकिन जब वोट मिल जाते है और कुर्सी मिल जाती है तो उसके बाद सबसे ज्यादा हिन्दू हितों पर कूठाराघात करती है, तो वो भाजपा सरकार है। राजधानी जयपुर में पहले ही सैकडो मन्दिर तोडे जा चुके है अब गौरी शंकर महादेव मन्दिर सहित बडी चौपड के कई मन्दिरों को कोर्ट का स्टे होने के बावजूद तोडने की तैयारी जिला प्रशासन कर रहा है।
खाचरियावास ने कहा की उन अधिकारियों को कांग्रेस पार्टी चेतवानी देना चाहती है जो राज्य सरकार के ईशारे पर कोर्ट के आदेशों की अवमानना करके लोगों की भावनाओं के विरूद्व मन्दिरों को तोडेगें तो उनके विरूद्व कोंग्रेस पार्टी कानूनी प्रक्रिया अपनाकर उन्हें जेल भेजने की तैयारी करेगी। कोर्ट ने साफ कहा है कि प्राचीन मन्दिरों को तोडने का राज्य सरकार को कोई अधिकार नहीं है लेकिन जयपुर के भाजपा सांसद, मंत्री और विधायक सभी मिलकर मन्दिरों को तोडने के षडयत्र की योजना को अंजाम दे रहे है। ऐसे में कांग्रेस पार्टी राज्य सरकार को चेतावनी देती है कि यदि लोगों की धार्मिक भावनाओं का अपमान करके विधिक प्रक्रिया अपनाये बगैर तानाशाही पूर्ण ढंग से मन्दिर तोडे जांयेगे तो कांग्रेस पार्टी राज्य सरकार के इस तरह के मन्दिर विरोधी गैर कानूनी कृत्यों का विरोध करेगी।