एसबीआई के 5 सहयोगी बैंकों के विलय को मंत्रिमंडल की मंजूरी

1
430

स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर और स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर शामिल है  सहयोगी बैंकों में

भारतीय स्टेट बैंकनई दिल्ली। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारतीय स्टेट बैंक के साथ उसके पांच सहयोगी बैंक और भारतीय महिला बैंक को मिलाने को सैद्धांतिक तौर पर मंजूरी दे दी है। पांच सहयोगी बैंकों में स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर और स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर शामिल है। दूसरी ओर भारतीय महिला बैंक को एक पूर्ण बैंक के रूप में पिछली सरकार ने स्थापित किया और इसका मकसद खास तौर से महिलाओं की बैंकिंग जरूरतों को पूरा करना था। भारतीय स्टेट बैंक का इरादा चालू कारोबारी साल में विलय प्रक्रिया को पूरी करने का है। विलय का सबसे बड़ा फायदा ये होगा कि भारतीय स्टेट बैंक और भी बड़ा बैंक बन जाएगा। 31 मार्च 2016 तक के उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, पांच सहयोगी बैंकों के पास कुल जमा 5 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा है जबकि इन्होंने करीब चार लाख रुपये का कर्ज दे रखा है। इन पांच बैंकों का नेटवर्थ करीब 90 लाख करोड़ रुपये है. साथ ही इन पांच में अधिकारियों और कर्मचारियों की संख्या करीब 70 हजार है। वहीं 31 मार्च, 2015 तक के आंकड़े बताते हैं कि नवम्बर 2013 में लांच किए गए भारतीय महिला बैंक की कुल जमा 751 करोड़ रुपये थी जबकि इसने करीब 350 करोड़ रुपये का कर्ज दे रखा था।