RIO साक्षी मालिक ने भारत को दिलाया ओलिंपिक का पहला मेडल

1
37

भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक ने भारत को रियो में पहला पदक दिलाया। उन्होंने रेसलिंग के 58 किलोग्राम फ्री स्टाइल मुकाबले में ब्रॉन्ज मेडल जीता। उन्होंने महिला रेसलिंग के 58 किलोग्राम फ्री स्टाइल मुकाबले में ब्रॉन्ज मेडल जीता। ब्रॉन्ज मेडल के लिए हुए मुकाबले में उन्होंने किर्गिस्तान की महिला रेसलर एसुलू तिनिवेकोवा को 8-5 से हराया। साक्षी ने ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रच दिया।

वो पहली भारतीय महिला रेसलर बन गई हैं जिन्होंने ओलंपिक में कोई मेडल जीता है। इसके अलावा वो भारतीय ओलंपिक इतिहास की चौथी महिला खिलाड़ी हैं जिन्होंने ये उपलब्धि हासिल की है। साक्षी से पहले कर्णम मलेश्वरी, मैरी कॉम और साइना नेहवाल ये कमाल कर चुकी हैं।

साक्षी को ये मुकाबला जीतने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। पहले राउंड में साक्षी अपनी विरोधी से 0-5 से हार गईं थीं। इसके बाद दूसरे राउंड में शुरुआत में पिछडऩे के बाद उन्होंने जबरदस्त तरीके से वापसी की और 8-5 से मुकाबला अपने नाम किया।

इससे पहले क्वार्टर फाइनल में हार के बाद कांस्य पदक के लिए रेपचेज मुकाबले में उतरी साक्षी मलिक ने अपना मुकाबला जीता था । मंगोलिया की खिलाड़ी ओरखोन पूरेबदोर्ज को 12-3 से हराकर उन्होंने जीत हासिल की थी। इसमें पहला मुकाबला 2-2 से बराबरी पर छूटा पर दूसरे मुकाबले में साक्षी पूरी तरह से खेल में हावी दिखीं और उन्होंने मंगोलियाई खिलाड़ी को हराते हुए 10 अंक हासिल किए थे।