राहुल गांधी को हिरासत में लिया जाना शर्मनाक-गहलोत

0
32

जयपुर । पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी एवं अन्यों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल के बाहर पुलिस द्वारा रोक दिये जाने और उन्हें पुलिस हिरासत में लिये जाने की घटना को शर्मनाक बताते हुए कहा है कि राहुल उस पूर्व सैनिक के पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे थे, जिसने सैनिकों के सम्मान की खातिर खुदकुशी की। गहलोत ने कहा कि सीमा पर देश की रक्षा करते हुए जान गंवाने वाले सैनिकों एवं ओ.आर.ओ.पी. को लेकर धरने पर बैठा मृतक पूर्व सैनिक सरकार के रवैये से इतना दुखी था कि उनके सम्मान के लिए अपनी जान देने जैसा कदम उठा लिया। उन्होंने पीड़ित परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि इससे साबित होता है कि एनडीए सरकार की नीतियां किस तरह से विफल हो रही हैं और उसके कारण सैनिकों में किस कदर निराशा व्याप्त है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि पुलिस द्वारा राहुल गांधी व अन्यों को पीड़ित परिवार से मिलने से रोका जाना लोकतंत्र में पूरी तरह असंवैधानिक है। पुलिस का यह व्यवहार निंदनीय है। ऐसे तानाशाही व्यवहार की देश के लोकतंत्र में कोई अन्य मिसाल नहीं मिलती। विपक्षी नेताओं को हिरासत में लेकर एनडीए सरकार ने सिद्ध कर दिया है कि वह पूरी तरह तानाशाही पर उतर आई है।