काम कर ही गये मुलायम की पहलवानी के दॉव-पेच

675
84

गीतांजलि पोस्ट…… आखिर मुलायमसिंह ने अपने बेटे अखिलेश को समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बना ही दिया। इससे पहले अखिलेश और शिवपाल के बीच यूपी का अध्यक्ष बनने के लिये घमासान मचा हुआ था, तो मुलायम ने अखिलेश को हटाकर शिवपाल को यूपी का अध्यक्ष बना दिया था। शिवपाल को यूपी का अध्यक्ष बनाया, तो किसी ने यह नहीं सोचा था कि यह मुलायमसिंह का कौनसा तुरप का पत्ता है, जिससे कारण अखिलेश यूपी के ही नहीं, बल्कि पूरे देश के ही अध्यक्ष बन जायेंगे। इस पूरे खेल में शिवपाल वहीं के वहीं रहे, बल्कि अब तो वे दिखाई भी नही देते।
मुलायमसिंह ने अखाड़ेे में पहलवानी की थी और वही पहलवानी के दांव-पेच वे राजनीति में लगाकर अपने विरोधियों को परास्त कर रहे हैं। जिस प्रकार उन्होंने अपने राजनीतिक दांव-पेचों द्वारा अखिलेश को समाजवादी पार्टी का सर्वे-सर्वा बना दिया, वो अपने आप में काबिले तारीफ है। जो नाटक मुलायमसिंंह द्वारा खेला गया, उसे मीडिया ने इस प्रकार प्रचारित किया, जिससे कि अखिलेश बिना मेहनत के पार्टी के साथ-साथ युवाओं में भी छाये रहे। यह मुलायमसिंह के पहलवानी दांव-पेचों का ही कमाल था। अब देखना यह है कि इसका चुनाव में कितना फायदा मिलता है? सोनिया गांधी को भी मुलायमसिंह से ऐसे ही राजनीतिक दांव-पेच सीखने चाहिये, जिससे वे राहुल गांधी को इसी तरह राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर आसीन कर सकें ।