कविताओं में नजर आया मुदित का मासूम अक्स

1

जयपुर। गोविंद देव जी मंदिर के पास स्थित चांदी की टकसाल में प्लाट नंबर ५८ पर उस बच्चे को कविताओं के जरिए याद किया गया जिसका हड्डी की बीमारी के चलते पिछले महीने १२ जनवरी को आकस्मिक निधन हुआ था। यह जयपुर में पहली बार हुआ है कि किसी दिवंगत आत्मा को इस तरह कविताओं की प्रस्तुति के जरिए याद किया गया। इस पहल का श्रेय ‘द पोएट्री रिसाइटल्स के संस्थापक रविन्द्र सिंह को जाता है। जिन्होंने अपनी टीम प्रवीण झा, तपिश खंडेलवाल, मनीष रंजन पांडेय, सूर्यप्रकाश उपाध्याय, मयंक व रोहित कृष्ण नन्दन के साथ मुदित के घर जाकर उनके परिवार जनों व सगे संम्बधियों के बीच मुदित को कविताओं के जरिए फिर से जीवन्त किया। कार्यक्रम में सबसे भावनात्मक पल जब आया जब मुदित की मां आशा ने अपने बेटे को याद करती एक मां की भावना बयां ,

की। विलक्षण प्रतिभा के धनी इस बच्चे का नाम मुदित है जिसका बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता अक्षय कुमार से गहरा नाता है। खास बात यह है कि अक्षय कुमार से मुदित का रिश्ता कोई पारिवारिक नहीं है बल्कि मानवता का रिश्ता है जो कि इस कदर जुड़ गया है कि अक्षय कुमार मुदित की फैमिली को अपने परिवार का हिस्सा मानते हैं। कार्यक्रम का संचालन सचिन ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here