“आस्था की डोर को तोड़ा नहीं जा सकता” दुबई में मनाया “छठ महापर्व”

1313
627

GEETANJALI POST

शिवाजी गुप्ता दुबई- लोगों में एक बात बहुत ही प्रचलित है कि “आस्था की डोर को तोड़ा नहीं जा सकता” ।
इसी आस्था का एक उदाहरण दुबई के ममजार समुन्दर तट पर देखने को मिला ,जहाँ उत्तर प्रदेश और बिहार के विभिन जनपदो से आये हुए प्रवासी भाई-बहनो को “छठ महापर्व” पर पूजा अर्चना करते हुए देखा गया ।

सिवान बिहार के निवासी अजय कुमार शाही जो पेशे से बेलहसा इंजीनियरिंग में इंजीनियर है,उन्होंने संकल्प न्यूज़ से बात करते हुए कहा की “सूर्योपासना का यह महान पर्व बिहार की उस विराट संस्कृति का परिचय है, जो संसार को वह महान संदेश देता है कि हम केवल  उगते हुए सूर्य को ही नही डूबते हुए सूर्य को भी अर्घ्य देते हैं । हमारे लिए पूज्य जन अपने अवसान के काल मे भी पूज्य बने रहते हैं ।
अपार श्रद्धा से किए जाने वाले लोक आस्था के इस पावन पर्व को हम विगत कई वर्षों से दुबई में मनाते चले आ रहें है ।

 

सिवान जनपद के ही प्रमोद सिंह जो बेला एंड बेला समूह के मालिक है वे कहते हैं कि,हम सपरिवार कई वर्षों से दुबई में रहते है और जब भी “छठ”का पर्व आता है उस समय हम लोग इसी समुन्दर तट पर आकर पूजा अर्चना करते है ।चूकी भारत से दूर रहकर भी हमसब को अपने धर्म और संस्कृति के आधार पर सभी पर्वों को मनाने की यहाँ आज़ादी है इसके लिए हमसब संयुक्त अरब अमीरात सरकार का भी आभार प्रकट करते हैं ।

इसी तरह से उत्तर प्रदेश देवरिया के निवासी राकेश सिंह,अमरेन्द्र सिंह,धर्मेन्द्र सिंह,बिहार के विभिन्न जनपदो से आये विजय ओझा,गिरधर सिंह,विकाश चंद्रा आदि सभी उपस्थित लोगों में सूर्य उपासना के इस महापर्व को लेकर खाफ़ी उत्साह देखने को मिला ।