स्वास्थ विभाग लगा रहा सरकार को चूना

0

प्रचार का बजट नहीं,डेंगू की बैठक एयरकंडिशन होटल में
रुतबा अतिरिक्त निदेशक का
स्वास्थ विभाग लगा रहा सरकार को चूना

 डॉ.प्रभात कुमार सिंघल। अतिरिक्त निदेशक का रुतबा कोटा के चिकित्सा एवम् स्वास्थ विभाग की नज़र मेंं मंत्री एवम् सचिव से भी बड़ा है। कोटा मेँ डेंगू की रोकथाम पर चर्चा हेतु उनकी बैठक एयरकंडिशन होटल में की गई।उधर विभाग के पास प्रचार हेतु बजट नही है। सरकार की मितव्यता की निति को दरकिनार करना अतिरिक्त निदेशक के विभाग में रुतबे को बताता है।
बैठक में डेंगू, मेलरिया, स्क्रब टाईफस, स्वाईन फ्लू, चिकनगुनिया की रोकथाम के लिए किये जा रहे प्रयासों एवं तैयारियो पर चर्चा की गई।बताया गया कि स्वाईन फ्लू, डेंगू एवं मलेरिया को नोटीफाई डीजीज घोषित किया गया है, जिसमें सभी निजि चिकित्सालयों एवं निजि लैब को रोग से सम्बंधित सभी जानकारी विभाग को देनी होगी। जानकारी छुपाये जाने पर उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जावेगी। कार्य योजना बनाकर योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने एवं सभी निजी एवं सरकारी चिकित्सा संस्थानो एवं हॉस्टल में मच्छर रोधी पेस्ट कन्ट्रोल करवान केे निदेश दिए। बैठक में विभाग द्वारा 1 वीबीडी कन्सलटेन्ट एवं 6 वीबीडी सुपरवाईजर कोटा जिले को दिये जाने की बात कही।
बैठक में अति. निदेशक (ग्रा.स्वा.) ने डोमेस्टिक ब्रीडींग चैकर हेतु शिघ्र ही बजट देने के लिए आश्वस्त किया।जयपुर से ही आए संयुक्त निदेशक (ग्रामीण स्वास्थ्य) डॉ सुनिल सिंह, उप निदेशक मलेरिया डॉ निर्मला शर्मा सहित जोन के संयुक्त निदेशक डॉ हेमन्द्र विजयवगीय एवं उप निदेशक डॉ एमपी सिंह समेत कोटा, बून्दी, बांरा, झालावाड के सीएमएचओ व डिप्टी सीएमएचओ (स्वास्थ्य) तथा एपिडेमियोलोजिस्ट, एन्टोमोलोजिस्ट एवं खाद्य सुरक्षा अधिकारी मौजूद थे।
चिकित्सा शिविर में 94 मरीजों की सेहत जांच
राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन के तहत गुरूवार को यूपीएचसी डीसीएम की ओर से इंदिरा गांधी नगर स्थित सामुदायिक भवन में लगाए गए निःशुल्क आउट रीच चिकित्सा एवं परामर्श शिविर में 94 मरीजों की जांच कर परामर्श एवं दवाईयां दी गई। इनमें 39 महिलाएं, 31 पुरूष एवं बच्चे शामिल थे। शिविर में 19 बच्चों का टीकाकरण व 8 गर्भवती महिलाओं की एएनसी जांच की गई। यहां शिशु एंव स्त्री रोग विशेषज्ञों ने मरीजों को परामर्श दिया। वहीं नर्सिंग एवं पेरामेडिकल स्टाफ ने भी सेवाएं दी। शिविर में रोगियों को डेंगू, स्वाइन फ्लू से बचाव-उपचार संबधी जानकारी दी गई एवं पम्फलेट बांटे गये।
चिकित्सा विभाग एवं नोवाटिस के संयुक्त तत्वाधान में गुरूवार को गोविन्द नगर यूपीएचसी में मधूमेह रोगियों के लिए निःशुल्क जांच एवं परामर्श शिविर का अयोजन हुआ। इसमें डॉ शेशव पांचाल और उनकी टीम ने 54 मरीजों की जांच कर परामर्श एवं दवाईयां दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here