छुट्टियां खत्म अब स्कूल चले हम

0
46

(कपिल गुप्ता,हिंडौन सिटी) गर्मियों की छुट्टियां आज यानी रविवार से खत्म हो रही हैं। यानी सभी सरकारी एवं गैर सरकारी आज स्कूल 2 जुलाई से खुल जाएंगे। बच्चों के साथ-साथ उनके पैरंट्स की दिनचर्या भी बदलने वाली है। लेट नाइट घूमने, सुबह में देर तक सोने का समय अब खत्म हुआ, बच्चों के साथ पैरंट्स भी टाइम के बंधन में बंध जाएंगे। एक ओर जहां बच्चों को छुट्टी खत्म होने का थोड़ा दुख है वहीं दूसरी ओर स्कूल जाने का उत्साह भी दिख रहा है। स्कूल खुलने से बच्चों को अब खेलने के लिए भी कम टाइम मिलेगा।

हल्की सी बेचैनी, नये दोस्तों से मिलने का उताबलापन-चेहरे पर गर्मियों की छुट्टियाँ खत्म होने की मायूसी…लेकिन इस बाबजूद बीच स्कूल पहुँचने की जल्दी क्योकि पुराने सहपाठियो का स्वागत जो करना है। जी हाँ कुछ ऐसा ही नजर आ रहा है शैक्षणिक संस्थानों में सत्र 2018-19 के प्रथम दिन के अवसर पर। गर्मी की लगभग 45दिनों की लम्बी छुट्टियों के बाद सभी विद्यालय इसी खुमारी में डूबे हुये नजर आ रहे हैं।किसी के चेहरे पर नए विद्यालय में आने की बैचेनी, तो वहीं दूसरी तरफ विद्यालय को जानने का उताबलापन भी चेहरे पर साफ साफ देखा जा सकता है। किसी के चेहरे पर पुराने दोस्तों को खोने का गम तो वहीं दूसरी तरफ नये दोस्त बनाने की जल्दबाजी भी साफ साफ दिखाई दे रही है। किसी चेहरे पर घर से जबर्दस्ती घर से स्कूल भेजे जाने का जबरदस्त आक्रोश दिखाई दे रहा है तो वहीं दूसरी तरफ किसी किसी चेहरे पर विद्यालय जल्दी पहुचने की हड़बड़ी में छूट गए नाश्ते की मायूसी साफ देखी जा सकती है।
मम्मियों ने शुरू की तैयारी-बच्चों को स्कूल भेजने के लिए उनकी मम्मियों ने 2 दिन पहले से ही तैयारी शुरू कर दी है। ऐसे बच्चे जो छुट्टी होते ही घूमने चले गए थे, उनके हॉलिडे होमवर्क अभी अधूरे पड़े हैं मम्मियां अपने बच्चों का होमवर्क निपटाने में लगी हैं। इसके साथ-साथ बच्चों का बैग भी लगा रही हैं। छुट्टी होने की वजह से कुछ ज्यादा काम नहीं होता था। इसलिए वह लेट नाइट सोते थे। साथ ही सुबह भी लेट उठते थे लेकिन अब स्कूल खुलने के बाद बच्चों के साथ-साथ उनका लंच बॉक्स भी तैयार करना पड़ेगा इसलिए उन्हें सुबह जल्दी उठना होगा।
बदल जाएगी दिनचर्या-जो बच्चे स्कूल जाने के लिए स्कूल ट्रांसपोर्ट यूज करते हैं उनके पैरंट्स को पास बने बस स्टॉपेज तक सुबह-सुबह टाइम पर पहुंचना होगा और जो बच्चे स्कूल ट्रांसपोर्ट का यूज नहीं करते उनके पैरंट्स को उन्हें स्कूल छोडऩे जाना पड़ेगा। अब मम्मी के साथ पापा का सुबह में देर तक सोना खत्म हो जाएगा। सुबह में तो पापा बच्चों को स्कूल छोड़कर अपने ऑफिस चले जाते हैं इसलिए स्कूल की छुट्टी के समय ज्यादातर मम्मियां ही बच्चों को लेने के लिए स्कूल जाती हैं। स्कूल खुलने से बच्चों के साथ-साथ उनके पैरंट्स की लाइफ स्टाइल भी काफी चेंज हो जाएगा।