रेप पीड़िता अगर अपने बयान से मुकर जाती है तो उसके खिलाफ भी चलेगा मुकदमा’-सुप्रीम कोर्ट

0
15

सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला- ‘रेप पीड़िता अगर अपने बयान से मुकर जाती है तो उसके खिलाफ भी चलेगा मुकदमा’

सुप्रीम कोर्ट ने आपराधिक मामलों पर एक अहम फैसला सुनाते हुए कहा है कि अगर पीड़ित, आरोपी को बचाने के लिए बाद में अपना बयान पलट देता है या उससे समझौता कर लेता है तो उस पर भी मुकदमा चलाया जा सकता है। इस दौरान रेप मामलों पर भी शीर्ष अदालत ने कहा कि अगर रेप के आरोपी के खिलाफ पर्याप्त सबूत है लेकिन बाद में पीड़िता अपने बयान से पलट जाती है तो उसके खिलाफ भी केस दर्ज किया जा सकता है।

जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस नवीन सिन्हा और जस्टिस केएम जोसेफ की बेंच ने इस मामले पर अपना फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट ऐसे ही एक मामले की सुनवाई कर रही थी। मामले में रेप पीड़िता ने अपना बयान बदलते हुए कहा था कि उसके साथ रेप नहीं हुआ था। जबकि रेप मामले में दोषी को 10 साल की सजा सुनाई गई थी।

न्याय व्यवस्था का मजाक बनाने का हक नहीं
कोर्ट ने इस दौरान सख्त लहजे में कहा कि आरोपी या पीड़ित किसी को भी कोर्ट में चल रहे क्रिमिनल ट्रायल को पलटने का हक नहीं है साथ ही इसे कोर्ट में मजाक का विषय ना बनाया जाए। किसी को भी ये अनुमति नहीं है कि वह अपनी मर्जी से कभी भी अपने बयानों से मुकर जाए और न्याय व्यवस्था का मजाक बनाए।