मतदान में जाहिर किया कुशासन के प्रति अपना विरोध

0
22

सत्ता में आना चाहते हैं तो करें लोकतांत्रिक मूल्यो की पालना

(नीरा जैन, जयपुर)


राजस्थन में सत्तारूढ शासन के विरुद्ध उनकी कुनीतियों के विरोध में कांग्रेस एक बार वापस जनता के सामने संगठित होकर आई हैं जिसनेे यह साबित कर दिया कि संगठन में शक्ति है । राजस्थान में हुए चुनावो के मतदान ओर एग्जिट पोल के मुताबिक राजस्थान में कांग्रेस सरकार बनाने जा रही हैं। जो जनता की भावनाओ के साथ खिलवाड करते है तो उन्हें जनता किस प्रकार नकारती हैं, जो जुमले बाजी, झूठे वादे करके पलट जाते है वहीं वो बाते गरीब की करते है अमीरों के साथ खडे होते हैं बाहर घूमते है स्वदेश के लोगो से उन्हें कोई वास्ता नही होता। जनता से दूरी बनाते है जोड लंबे भाषण देते है पर हकीकत से उनका दूर दूर तक वास्ता नही होता जो लोकतंत्र की परंपराओं की चुनोती देते है उनके प्रति जनता अपना आक्रोश जाहिर कर रही है ऐसे नकारा नेताओं को सत्ता में बने नही रहने देना चाह्ती है राजस्थान में मतदाताओ ने मतदान कर कुशासन के प्रति अपना विरोध जाहिर किया।

देश की धर्म ओर जाति में बांट दिया गया जातियों की आपस मे लडवाना ये कैसा राजनीति कैसा शासन है। देश की आर्थिक व्यवस्था चरमरा गई, देश काा युवा बेरोजगार घुम रहा है, किसान आत्महत्या कर रहा ह,ै महिलाओ को अधिकार और सम्मान नही मिला सरकार उन्हें सरक्षण नही दे रही हैं। मोदी अमित शाह को लेकिन इनसे कोई मतलब या कहे तो लेना देना नही है ये असंवेदनशील है अपनी जिम्मेदारियों से दूर भाग रहे है ऐसे में जनता ऐसे लोगों को सत्ता में क्यों बने रहने देगी जनता को उन्हें सता से बाहर करने का पूरा अधिकार है ।

हमारे देश के मतदाताओं ने वस्तुनिष्ठ होकर निर्भीक होकर अपनी बात उमीदवाररों के सामने रखी और मतदान किया जनता अब बाद बदलाव चाहती है की सरकार के झूठे वादों पर भरोसा करना नही चाहती, जनता चाहती है नेता अब लोकतंत्र में लोकतांत्रिक मूल्यो की पालना करे अगर वो सत्ता में आना चाहते है।


लेखक के अपने विचार हैंं गीतांजलि का लेखक के विचारों से सहमत होना अनिवार्य नहीं हैं।