एलजीबीटीक्यू समुदाय को समाज की मुख्यधारा में लाना होगा

0
82

Geetanjali Post… दिल्ली। नई दिल्ली के होटल ललित में लव मैटर्स इंडिया और केशव सूरी फाउंडेशन के सहयोग से प्रेस फार चेंज प्रोजेक्ट की मीडिया कार्यशाला में गीतांजलि पोस्ट की संपादिका रेणु शर्मा और लीगल एडवाईजर अनिता शर्मा ने भाग लिया और एलजीबीटीक्यू के मुद्दों को समझा और जाना कि किस प्रकार एसआरएचआरक्यू समुदाय के प्रति समाज के नजरिये और सोच में बदलाव लाया जा सकता हैं। कार्यशाला को संबोधित करते हुए रेणु शर्मा ने बताया कि अभी तक मीडिया में एलजीबीटीक्यू समुदाय की समस्याएं या उनके बारे में जानकारी के अभाव में हम उनके प्रति समाज में मिथ्या बाते होती रहती हैं, हम पत्रकारों को उन्हे मीडिया के माध्यम से दूर करना हैं क्योंकि मीडिया ही समाज को सच का आयना दिखाते हैं जिस पर जनता विश्वास भी करती हैं।


उल्लेखनिय हैं कि लव मैटर्स एक ग्लोबल मल्टी मीडिया इनीशिएटिव है, जिसमें नौजवानों को प्यार, सेक्स और रिलेशनशिप के संबंध में अपपने विचार रखने के लिए प्रेरित किया जाता है। इसकी मौजूदगी दुनिया के 5 देशों, भारत, केन्या, चीन, लेटिन अमेरिका (मैक्सिको और वेनेजुएला) और मिस्र में हैं। लव मैटर का मानना है कि लव, सेक्स और रिलेशनशिप एक अधिकार, पसंद और उल्लास का सवाल होना चाहिए। इसे संभव बनाने के लिए इस संवेदनशील मुद्दे से संबंधित जानकारी उचित ढंग से लोगों को देनी चाहिए, उल्लेखनिय हैं कि यह वर्कशॉप लव मैटर्स इंडिया के प्रेस फार चेंज प्रोजेक्ट का पहला कार्यक्रम था जिसमें देश भर के पत्रकारों ने उत्साह से भाग लिया और वर्कशाप की ट्रेनर ऋचा वशिस्ठ ने एलजीबीटीक्यू समुदाय ओर उनसे जुडे मुद्दों को समझाया साथ ही इस समाज के प्रति समाज में फैली भ्रान्तियों के बारे में बताया।

वर्कशॉप के समापन पर लव मैटर्स की कंट्री हेड वीथिका यादव ने कहा, मैं शुक्रगुज़ार हूँ सभी पत्रकारों का जो इतनी दूर से दिल्ली आये और हमारे साथ इतने खुले मन के साथ बातचीत की। मैं समझती हूँ की उनके खुद के शहरो में आज भी सेक्स शब्द को गन्दा माना जाता है लेकिन फिर भी सभी पत्रकारों ने अपनी जिम्मेदारी को समझा हैं।
पत्रकारों को धन्यवाद देते हुए केशव सूरी फाउंडेशन के संस्थापक और अध्यक्ष केशव सूरी ने कहा, मैं यह मानता हूँ की हाल ही में बड़े शहरों में एलजीबीटीक्यू मुद्दों पर काफी बात चीत हुई हैं हांलाकि, असली बदलाव तभी आएगा जब भारत के सभी पत्रकार इस बारे में एक जुट हो कर बात करेंगे और सामाज में उनके मुद्दों को सामने लेकर आएंगे हमारी पूरी टीम इस बात से बेहद संतुष्ट है की हम इस बदलाव की पहल में हिस्सेदार हैं।
गौरतलब हैं कि प्रेस फार चेंज आने वाले साल में और भी कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है और प्रेस के विभिन्न अंगो जैसे कॉलेजेस, अख़बार, चैनल्स, प्रेस क्लब आदि को जुडऩे के लिए आमंत्रित कर रहा हैं साथ ही केशव सूरी फाउंडेशन एक भेदभाव रहित प्लेटफॉर्म बना रहा है, जिसमें कम्युनिटी के सदस्य अपनी कहानियों और भावनात्मक और मानसिक दर्द, पीड़ा को अभिव्यक्ति दे सके। इसका मिशन एलजीबीटीक्यू समुदाय को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराकर उन्हें गले लगाने, सशक्त करने और समाज की मुख्यधारा में लाना हैं।

कार्यशाला में राजस्थान के जयपुर से ड़ॉ अमर सिंघल, सीमा राठौर, जोधपुर से नीलम शर्मा, कोटा से राधा राजोरा , हरियाणा के परवल से विष्णु चौहान, बिहार से विलियम सहित देशभर के अन्य राज्यों से पत्रकारों ने उत्साह से भाग लिया।