बैंक कर्मचारी रहे हड़ताल पर, लाखो का कारोबार हुआ प्रभावित

0
12

गीतांजलि पोस्ट : जयपुर। यूनाइटेड बैंक यूनियन के संयुक्त रूप से बैनर तले बुधवार को सैकड़ों बैंक कर्मचारी हड़ताल पर रह कर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान कर्मियों ने देना बैंक और विजया बैंक का बैंक ऑफ बड़ौदा में मर्जर किए जाने पर रोष जताया। वहीं बैंकों की हड़ताल के कारण लाखों रुपए का लेन-देन अटका रहा ।

वहीं ऑनलाइन कारोबार पूरी तरह ठप रहा। इससे ऑनलाइन व्यापार करने वाले को लाखों रुपए का नुकसान हो गया। इस दौरान यूनियन के पदाधिकारियों ने कहा कि इसके साथ अन्य मांगें भी कई वर्षों से लंबित चल रही हैं। जिनपर सरकार बिलकुल ध्यान नहीं दे रही है। अगर अब भी सरकार के इरादे नहीं बदले तो हालात बेहद ही संकटपूर्ण हो जाएंगे।

जानकारी के अनुसार इस हड़ताल में इसमें कर्मचारियों की 4 और अधिकारियों की 5 यूनियन शामिल हैं। नेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स के उपाध्यक्ष अश्विनी राणा के मुताबिक, पुराने निजी बैंक जो यूनियन से जुड़े हैं उनमें कामकाज नहीं हुआ। इनमें फेडरल, कर्नाटका, करुर वैश्य, धनलक्ष्मी, लक्ष्मीविलास बैंक शामिल हैं। वहीं सरकारी बैंकों के मर्जर के विरोध में और वेतन बढ़ोतरी की मांग को लेकर कर्मचारियों ने हड़ताल पर रहे है।

गौरतलब है कि आल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन (एआईबीओसी) से जुड़े कर्मचारी शुक्रवार को हड़ताल पर रहे। शनिवार, रविवार को सार्वजनिक अवकाश रहा। सोमवार को बैंक खुले, लेकिन मंगलवार को फिर क्रिसमस की छुट्टी रही। इस तरह पिछले 5 दिन में बैंकों में सिर्फ 1 दिन काम हुआ।

एटीएम खाली, लोग होते रहे परेशान

बैंकों के बंद रहने के बाद एटीएम से भी लोगों को राहत नहीं मिल पा रही है। लगातार दो दिन तक बैंकों बंद होने के कारण शहर के सभी एटीएम ड्राई हो गए। वहीं शहर के अधिकतर एटीएम में कैश तक नहीं मिला। लोग एक से दूसरे एटीएम भटकते रहे।