डॉ रत्ना जैन ने किया मुम्बई ग्लोबल हेल्थ सबमिट अंतरराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस में राजस्थान का प्रतिनिधितव’

0
17

Geetanjali Post…डॉ. प्रभात कुमार सिंघल,कोटा

            ए ए पी आई भारतीय मूल के अमेरिकन चिकित्सकों का एक तीन दिवसीय  अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य सम्मेलन मुम्बई के होटल ,नरीमन पॉइंट पर आयोजित हुआ । सम्मेलन का भारत के राष्ट्रपति कोविंद ने किया उद्धघाटन. । भारत मे महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार व महिलाओं को शिक्षा व विकास पर विचार विमर्श करने के लिए एक अलग से परिचर्चा आयोजित की गई। उसमें भारत के अलग अलग क्षेत्र की महिला नेताओ को आमंत्रित किया गया।कॉर्पोरेट जगत से अमृता फडणवीस जो एक्सिस बैंक की वाईस प्रेजिडेंट है व  महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की पत्नी है । राजनीतिक क्षेत्र से डॉ रत्ना जैन को व फ़िल्म जगत  व चिकित्सा जगत की प्रमुख हस्तियों को सम्मिलित किया गया।

         डॉ रत्ना जैन ने अपने  30 सालों से एक महिला रोग विशेषज्ञ व 5 सालों से राजनैतिक जीवन के अनुभव के आधार पर भारतीय महिलाओं की वास्तविक स्थिति पर प्रकाश डाला । डॉ रत्ना जैन ने कहा कि महिला अशिक्षा इस देश की सबसे बड़ी बीमारी है जिसका सभी को मिलजुल कर मुकाबला करना चाहिए । महिला शिक्षित होगी, समाज मे उसका उचित स्थान होगा, उसके शोषण पर रोकथाम होगी । शिक्षित महिला अपने लड़के व लड़की की अच्छी परवरिश करेगी। मातृ व शिशु मृत्यु दर में कमी आएगी ।बीमारियों पर रोकथाम लगेगी । महिला देश के आर्थिक विकास में भागीदार बनेगी व देश समृद्ध बनेगा। उन्होंने अमेरिका से आये भारत मूल के चिकित्सकों को  आव्हान किया कि अपनी मातृभूमि की सच्ची सेवा यही होगी कि यहां की लड़कियों को सशक्त बनाने का भरसक प्रयास किया जावे ।अमृता फडणवीस ने कहा कि महिलाओ को आर्थिक रूप से स्वतंत्र होना चाहिए व छोटी छोटी बचत अपने  बैंक में जमा करते रहना चाहिए । महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्षा डॉ आशा पारीख ने भी अपने विचार रखे । सभी ने मिलजुल कर आगे कार्य करने  का निर्णय किया ।