बर्ड फ्रीडम डे” सदस्यों ने 101 गुब्बारों को उड़ाकर मनाया मकर संक्रांति

0
27

गीतांजलि पोस्ट… जयपुर । जयपुर में “बर्ड फ्रीडम डे” सदस्यों ने मकर संक्रांति पर पतंग की बजाय गुब्बारे उड़ाए।

बर्ड फ्रीडम डे” अभियान के संस्थापक विपिन कुमार जैन और सह संस्थापक रुचिका जैन ने कहा-पिछले पांच वर्षों से “बर्ड फ्रीडम डे” अभियान से जुड़े सदस्य पक्षियों के विचरण के समय ग़ुब्बारे उड़ा कर संक्राति मनाते हैं। हम पक्षियों के विचरण के समय पतंगों के स्थान पर कोई अन्य विकल्प बच्चों को दें। मंझे से होने वाले दुष्प्रभाव से  पक्षियों को घायल होने से बचाया जा सकता है।

मूक परिंदो के स्वंत्रत विचरण को ध्यान में रखते हुए “बर्ड फ्रीडम डे” अभियान से जुड़े सदस्यों ने मकर संक्रांति पर्व पर पक्षियों के विचरण के समय यानी प्रातः 6 से 8.30 बजे एवम साय 5 से 8 बजे तक पतंगों के स्थान पर 101 रंग बिरेंगे गुब्बारों के माध्यम से आसमाँ में  बिखेरें रंग और मनाया मकर संक्रांति पर्व ।

“बर्ड फ्रीडम डे” अभियान के संस्थापक सदस्य एडवोकेट ललित शर्मा के अनुसार –

बर्ड फ्रीडम डे” अभियान के संस्थापक विपिन कुमार जैन और सह संस्थापक रुचिका जैन ने बताया कि पिछले पांच वर्षों से “बर्ड फ्रीडम डे” अभियान से जुड़े सदस्य पक्षियों के विचरण के समय ग़ुब्बारे उड़ा कर संक्राति मनाते है।
उन्होंने यह भी बताया कि यदि हम पक्षियों के विचरण के समय पतंगों के स्थान पर कोई अन्य विकल्प बच्चों को दे तो अवश्य ही बच्चे समझते है और मंझे से होने वाले दुष्प्रभाव से  पक्षियों को घायल होने से बचाया जा सकता है। चूँकि प्रातः एवम साय कालीन पक्षी बहुतायत की संख्या में भोजन एवम पानी की तलाश में विचरण करते है अतः इस समय का उपयोग हम पतंगों में तंग डालने में,छत पर क्रिकेट खेलने में , कैरम खेलने में गुब्बारों उड़ाने में या  अन्य किसी और विकल्प के माध्यम से कर सकते है ताकि बच्चों का मनोरंजन भी यथावत रहे और पक्षियों का विचरण भी।