परिणय सूत्र में बंधे सर्व समाज के 11 जोड़े, राघवेंद्र आचार्य महाराज ने दिया आशीर्वाद

0
61

गीतांजलि पोस्ट…….जयपुर:- जयपुर के कृष्ण जन्म उपयोगी भवन संजय कॉलोनी आरपी रोड में ग्रामीण विकास एवं रोजगार प्रशिक्षण संस्थान के तत्वाधान में सप्तम सर्व समाज सामूहिक विवाह निशुल्क सम्मेलन रघुनाथ धाम रामानुज आश्रम पचार के पीठाधीश्वर सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज के सानिध्य में आयोजित हुआ। आरपीआई रोड से 11 दूल्हों की बारात बैंड बाजे के साथ विवाह स्थल तक पहुंची। यहां दूल्हों ने तोरण की रस्म अदा की और मंत्रोच्चार के साथ वरमाला के पश्चात सभी 11 जोड़ों ने अग्नि को साक्षी मानकर सात फेरों के वचनों के बजाय 8 फेरे कन्या भूण हत्या वचन के रूप में लिए। इस अवसर पर पीठाधीश्वर सौरभ राघवेंद्र आचार्य ने अपने उद्बोधन में कहा कि पुत्री पवित्र किए कुल दोहूं अर्थात बेटियां शादी होने के बाद दो परिवारों को आगे बढ़ाती है, दो कुलों को उतारती है तथा कर्तव्य प्राण पुत्री भी पित्र कुल एवं ससुर कुल दोनों का उद्धार करती है, इसलिए सभी को मातृ शक्ति का सम्मान करना चाहिए।
विवाह सम्मेलन में राघवेंद्र आचार्य महाराज का समिति के अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह ने महाराज को शॉल उड़ाकर प्रतीक चिन्ह भेंट करके सम्मान किया। इस अवसर पर रघुनाथ धाम के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल भाई ,मीडिया प्रभारी संजय यादव, वार्ड 24 के अध्यक्ष विष्णु बियानी ,यश जाट , युवा नेता हेमंत अग्रवाल, भाजपा नेता पवन तिवारी सहित कई गणमान्य लोगों ने दूल्हा दुल्हन को आशीर्वाद दिया। संस्था के द्वारा सभी नव विवाहित जोड़ों को अनेक प्रकार के उपहार प्रदान किए गए।