समाज रत्न अवार्ड से सम्मानित हुआ लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान

0
23

गीतांजलि पोस्ट………जयपुर:-  बिछुड़े हुए लापता व्यक्तियों को उनके परिवारों से मिलाने के लिए प्रयासरत लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान को सामाजिक क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए मानवाधिकार विजन संस्था द्वारा समाज रत्न अवार्ड से नवाजा गया। जयपुर के अजमेर रोड स्थित गढवाल सभाभवन में आयोजित इस सम्मान समारोह में अभियान की ओर से यह पुरस्कार अभियान के संस्थापक राहुल शर्मा ने प्राप्त किया।

मानवाधिकार विजन संस्था द्वारा अपने द्वितीय स्थापना दिवस के अवसर पर 23 मई को इस सम्मान समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें समाज सेवा के विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाले देशभर के 101 चुनिंदा व्यक्तियों एवं संस्थाओं को समाज रत्न अवार्ड से सम्मानित किया गया। लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान के संस्थापक राहुल शर्मा ने यह सम्मान इस अभियान से निःस्वार्थ भाव से जुड़े सम्पूर्ण देशवासियों को समर्पित करते हुए अभियान के समस्त सेवाभावी सहयोगियों का आभार व्यक्त किया है। साथ ही अभियान को अवार्ड से सम्मानित करने के लिए मानवाधिकार विजन संस्था के प्रदेश अध्यक्ष देवेन्द्र शर्मा सहित सभी पदाधिकारियों व सहयोगियों का भी धन्यवाद ज्ञापित किया है।

*क्या है लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान*
लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान राजस्थान पुलिस एवं सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग, राजस्थान सरकार से अधिकृत देशव्यापी सामाजिक अभियान है, जिसका उद्देश्य बिछुड़े हुए लावारिस व्यक्तियों को उनके परिवारों से मिलाने का प्रयास करना है। इस अभियान का शुभारम्भ भारतीय नववर्ष के अवसर पर दिनांक 8 अप्रैल, 2016 को किया गया था और इतने कम समय में यह अभियान सम्पूर्ण भारतवर्ष के सैंकड़ों व्यक्तियों को उनके परिवारों से मिलाने में सफलता प्राप्त कर चुका है।

*ऐसे जुड़ें लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान से*
अभियान से जुड़ने के इच्छुक व्यक्ति संस्थापक राहुल शर्मा के व्हाट्सएप नम्बर 9782279219 पर संपर्क स्थापित करके अभियान के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ सकते हैं। इसके अलावा अभियान की वेबसाइट http://lostfoundperson.com पर जाकर स्वयं को वॉल्युन्टीयर के रूप से रजिस्टर कर सकते हैं तथा अभियान के फेसबुक ग्रुप व ट्विटर अकाउन्ट को फॉलो कर सकते हैं। फेसबुक ग्रुप व ट्विटर अकाउन्ट का लिंक वेबसाइट के होम पेज पर दिया गया है।
कोई भी आम व्यक्ति किसी भी लापता व्यक्ति या लावारिस पाये गये व्यक्ति का विवरण सीधे ही अभियान की वेबसाइट पर दर्ज कर सकता है अथवा दिये गये व्हाट्सएप नम्बर पर उपलब्ध करा सकता है।