फ़िल्म आर्टिकल 15 के विरोध में उतरा अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ

0
161

गीतांजलि पोस्ट…….. जयपुर:- अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ द्वारा फिल्म आर्टिकल 15 के विरोध में पिंकसिटी प्रेस क्लब में अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ संस्था द्वारा एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। जिसमें रघुनाथ धाम के पीठाधीश्वर सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज ने प्रेस को संबोधित करते हुए बताया कि आर्टिकल 15 फिल्म में विरोधाभास तथ्यों को परोसा गया तथा सच्चाई को झुठला कर एक जाति विशेष को निशाना बनाया गया है। यह फिल्म बदायूं उत्तर प्रदेश के रेप और मर्डर केस पर आधारित है। यह बदायूं रेप मर्डर केस साल 2014 में हुआ था तथा यह फिल्म बदायूं रेप मर्डर केस पर फिल्माई गई है। इसमें तथ्यों से छेड़खानी की गई है और इरादतन दोषियों को ब्राह्मण जाति का दिखाया गया है, जिससे ब्राह्मण जाति समुदाय में काफी आक्रोश है। अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज जोशी ने बताया की फिल्म के ट्रेलर में दो गरीब परिवार के बच्चों का रेप और मर्डर दिखाया गया तथा उनसे खेतों में मजदूरी करवाई जाती है। इस फिल्म में समाज को विशेषकर ब्राह्मण समाज को नीचा दिखाने का काम दिखाया गया। इसी प्रकार श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय महासचिव श्री दौलत सिंह चितरोली ने बताया की इस फिल्म के जरिए जाति आधारित भेदभाव को मुद्दा बनाकर ब्राह्मण जाति को विशेष निशाना बनाया गया हैं। इस फिल्म में तोड़ मरोड़ कर तथ्यों को पेश करके ब्राह्मण जाति विशेष के खिलाफ लोगों की जन भावनाओं को ठेस पहुंचाया जा रहा है। अंत में सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज ने कहा कि सच्चाई से छेड़छाड़ अब बर्दाश्त नहीं की जाएगी, उन्होंने कड़े शब्दों में सेंसर बोर्ड और सरकार की कार्यप्रणाली को समाज विरोधी बताया तथा कहा कि अबकी बार समाज का आर पार का संघर्ष रहेगा। कार्यक्रम में संस्था के संस्थापक पंडित ईशान निर्मल, एडवोकेट पंडित शिव कुमार जोशी सहित कई ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधि मौजूद रहे।