राजधानी जयपुर में कचरे का ढेर करते है घूमने वालों का स्वागत

0
33

गीतांजलि पोस्ट………..(कृष्ण कुमार महर्षि) जयपुर:- जहाँ एक तरफ देश के प्रधानमंत्री स्वयं सफाई करके देशवासियों को स्वछता का संदेश दे रहे हैं, वहीं राजस्थान की राजधानी जयपुर में शहर के मुख्य मार्गों पर पड़े कचरे के ढेर राजस्थान की स्वछता की पोल खोलते नजर आ रहे हैं। कचरे के ढेर होने की वजह से जयपुर आने जाने वाले लोगो का स्वागत यहाँ पड़े कचरे के ढेर और वहां फैली गंदगी से होता हैं। वहीं गंदगी का ढेर होने से डेंगू , मलेरिया सहित अनेक बीमारियों को पनपने का खुला निमंत्रण दिया जा रहा हैं। गौ माता भी इस कचरे के ढेर में मुहँ मारती नजर आ जाती हैं।

इसी संदर्भ में सांगानेर-जयपुर के सक्रिय सामाजिक कार्यकर्ता कृष्ण कुमार महर्षि नें राजस्थान प्रदेश के सम्मानीय मुख्यमंत्री,स्वायत्त शासन मंत्री,जयपुर के महापौर का ध्यान मालवीय नगर इंडस्ट्रियल एरिया,मालवीय नगर,जयपुर में फैले कचरे एवं गन्दगी और आस-पास के अस्पतालों के बायो मेडिकल वेस्ट की तरफ आकर्षित करते हुए बताया है कि जब प्रदेश की राजधानी जयपुर में यह हालात है तो प्रदेश में अन्य जगह कितने बदतर हालात होगें, इस बात का ध्यान रख कर। गंदगी एवं कचरें से मुक्ति का स्थाई समाधान करने की मांग करी है। एवं गन्दगी फैलाने और सफाई व्यवस्था को कायम रखने में लापरवाही करने वालों को कडा दण्ड देने,संस्था,संस्थान की मान्यता रद्द करने और सरकारी कर्मचारी को नौकरी से बर्खास्त करने एवं सफाई व्यवस्था को हर हाल में कायम कर जयपुर एवं प्रदेश को गन्दगी कचरे से मुक्त साफ सुथरा रखने की मांग करी हेै।