निकले पढने थे तो शिक्षकों ने भेज दिया हेल्पर का कार्य करने

0
18

गीतांजलि पोस्ट……(देवेंद्र सेहरा) करौली-जिले की सपोटरा तहसील मुख्यालय की ग्राम पंचायत चौडागांव के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के छात्र शनिवार को सपोटरा उपखण्ड मुख्यालय के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय मे पहुचकर हेल्पर का कार्य करते नजर आए।

उल्लेखनीय है कि सरकार के द्वारा शिक्षा को बढावा देने के लिए छात्राओं को नि:शुल्क साईकिल वितरण की गई थी। साईकिलों को लेने के लिए विद्यालय छात्र स्कूल के समय मे सपोटरा उपखण्ड मुख्यालय पर स्थानीय विद्वालय के पंचायत सहायक के साथ पहुंचे जहां पर पंचायत सहायक खडा हुआ था लेकिन स्कूल के बच्चे साईकिलों को जमीन से उठाकर जुगाड मे रख रहे थे ऐसे मे छात्रों से स्कूल के समय मे चौडागांव से सपोटरा ६ किमी दूर ले जाकर हेल्पर का कार्य कराया जा रहा था। सपोटरा उपखण्ड मुख्यालय पहुँचने से स्कूल के छात्रों की पढाई तक चौपट हो गई। लेकिन इस ओर शिक्षा विभाग के अधिकारी अपने आंखों को मूंद कर बैठे हुए।

ये बोली प्रधानाचार्या

चौडागांव प्रधानाचार्या सुनीता वर्मा का कहना है कि सपोटरा उपखण्ड पर पहुंचकर स्कूल के छात्रों  ने साईकिल जुगाड मे रखने का कार्य किया यह कोई बडा मामला नही है। कर्मचारी नही होने पर बालकों को अनुशासन के कार्य कराना चाहिए । विद्यालय मे चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का पद रिक्त पडा हुआ है।

ये बोली ब्लॉक प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी

ब्लॉक प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी नुजहत फातिमा का कहना है कि स्कूल के छात्रों ने विद्यालय से ६ किमी दूर पहुंचकर हेल्पर का कार्य किया यह मामला मेरी जानकारी मे नही है। यदि चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी विद्यालय मे नही है तो वैकल्पिक व्यवस्था करके साईकिल प्राप्त करनी चाहिए। मामले की जांच की जावेगी।