ज्योतिषाचार्य पवन शर्मा हिंदी ज्योतिष रत्न अवार्ड से सम्मानित

0
21

गीतांजलि पोस्ट……..(विनय शर्मा) जयपुर:- आज हिंदी विषय के उपलक्ष में नई दिल्ली के दिल्ली विश्वविद्यालय के संबंधित हंस राज कॉलेज के विज्ञान भवन में एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन तथा सम्मान समारोह का आयोजन भारत के सुप्रसिद्ध विद्वान कानूनविद डॉक्टर एच सी गनेशिया की अध्यक्षता में हुआ। जिसमें हिंदी विषय के लिए मुख्य वक्ता के तौर पर मां भगवती जमवाय ज्योतिष शोध समाधान केंद्र के चेयरमैन आचार्य पवन शर्मा ने हिंदी विषय पर प्रकाश डाला और बताया कि भारत देश को आजादी मिलने के पश्चात सर्वप्रथम भारत में संविधान सभा में एक मत से 14 सितंबर 1949 को राष्ट्रीय भाषा का दर्जा दिया गया।इस महीने को बाद हिंदी को पूरे भारत में लागू करने के
तथा राष्ट्रभाषा प्रचार समिति के द्वारा पूरे राष्ट्र में प्रचार प्रसार करने के लिए सन 1953 से 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाने लगा। आचार्य ने बताया कि पहली बार 14 सितंबर 1953 को पूरे भारतवर्ष में हिंदी दिवस मनाया गया। कार्यक्रम में 22 देशों से हिंदी विषय पर विद्वान उपस्थित हुए जिन्होंने अपनी अपनी राय हिंदी विषय पर रखी और जनता के समक्ष हिंदी पर अपने विचार प्रकट किए। कार्यक्रम में जयपुर के सुप्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पवन शास्त्री को हिंदी ज्योतिष एवं लेखांकन के क्षेत्र में हिंदी ज्योतिष रत्न अवार्ड से नवाजा गया। ज्योतिषाचार्य पवन शास्त्री को यह अवॉर्ड ज्योतिष एवं अध्यात्म विषय पर अनेक प्रकार से शोध करने पर प्रदान किया गया ।गौरतलब है कि ज्योतिषाचार्य पवन शर्मा ने हिंदी एवम् ज्योतिष का देश विदेश में का मान बढ़ाया है तथा ज्योतिष के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने पर कई बार कई उपाधियों से नवाजे भी जा चुके हैं। कार्यक्रम में सुप्रसिद्ध कानूनविद डॉक्टर एच सी गनेशिया हिन्दी के विद्वान श्रीकृष्ण मनु, विवेक गौतम, आशीष कन्नवे और जवाहर करानावत सहित कई देश विदेश के विद्वान लोग मौजूद रहे।