अधिक विद्युत लॉस वाले फीडरों पर प्रभावी विजीलेन्स चैकिंग की जाए- प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा

0
7

अजमेर डिस्कॉम की समीक्षा बैठक आयोजित

गीतांजलि पोस्ट…….जयपुर:- प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा एवं अध्यक्ष डिस्कॉम्स श्री अजिताभ शर्मा ने गुरुवार को अजमेर डिस्कॉम के परफार्मेंस की समीक्षा करते हुए विद्युत छीजत को कम करने व चोरी पर अंकुश लगाने के लिए अधिक लॉस वाले फीडर्स को चिन्हित कर प्रभावी विजीलेन्स चैकिंग की कार्यवाही करने और इसमें जिला प्रशासन व पुलिस का सहयोग लेने के डिस्कॉम अधिकारियों को निर्देश दिए। समीक्षा के दौरान कमजोर प्रदर्शन की वजह से सहायक अभियन्ता पवस कुचामनसिटी श्री सुनील कुमार एवं सहायक अभियन्ता विजीलेन्स बागीडोरा श्री किरोड़ी लाल को निलम्बित किया गया हैं। समीक्षा बैठक में अजमेर डिस्कॉम के प्रबन्ध निदेशक श्री वी.एस.भाटी, निदेशक निदेशक वित्त, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सतर्कता सहित तीनों संभाग के संभागीय मुख्य अभियन्ता व अधीक्षण अभियन्ता आईटी, अधीक्षण अभियन्ता विजीलेन्स उपस्थित रहे।

प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा एवं अध्यक्ष डिस्कॉम्स श्री अजिताभ शर्मा ने विजीलेन्स चैकिंग अभियान की स्थिति, विद्युत आपूर्ति की गुणवत्ता एवं उपभोक्ताओं शिकायतों के समाधान सहित अन्य कार्यों एवं योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए की बिजली चोरी पर सख्ती से अंकुश लगाने के लिए बिजली चोरी के पकड़े जाने पर विद्युत चोरी निरोधक पुलिस थानों में एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही नियमानुसार गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाए। इसके साथ ही इन मामलों में भरी गई वीसीआर की जुर्माना राशि का सही तरीके से निर्धारण करते हुए वसूली को गति प्रदान करने के भी निर्देश दिए।

विजीलेन्स चैकिंग के दौरान पकड़े गए बिजली चोरी के मामलों की पुनः चैकिंग भी कराई जाए। उन्होंने सख्त निर्देश दिए कि अवैद्य ट्रांसफार्मरर्स को आगामी 15-20 दिनों में जप्त करने की कार्यवाही की जाए और इनके सप्लायर्स की जानकारी कर उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जाए। इसके साथ ही निगम के जो अधिकारी एवं कर्मचारी बिजली चोरी में लिप्त हो या चोरों से मिले हुए हो उनको चिन्हित कर उनके विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाए।

श्री शर्मा ने बिलिंग एफिशिएन्सी व कलेक्शन एफिशिएन्सी पर विशेष ध्यान देने की जरुरत बताई एवं निर्देश दिए कि लॉकडाउन के बाद उपभोक्ताओं की बिलिंग से सम्बन्धित समस्याओं का तुरन्त समाधान किया जाए और इसके लिए उपखण्ड स्तर पर सप्ताह में एक दिन का कैम्प आयोजित किया जाए। उन्होंने कहा कि लॉस रिडक्शन सस्टेनेबल होना चाहिए और जो कम किया है वह मेन्टेन रहना चाहिए। इसके साथ ही सौ फीसदी राजस्व वसूली पर विशेष घ्यान देना चाहिए। उपभोक्ताओं को गुणवत्तापूर्ण बिजली की आपूर्ति, कृृषि उपभोक्ताओं को ब्लॉक आवर्स में निर्धारित बिजली की आपूर्ति व खराब मीटरों को तुरन्त प्रभाव से बदलने की कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए गए।

बैठक में विजीलेन्स चैकिंग अभियान की स्थिति, विद्युत आपूर्ति की गुणवत्ता, बकाया राशि की वसूली, केन्द्र प्रवर्तित व पूंजीगत प्रोजेक्टस की स्थिति, 33 केवी, 11 केवी, डीटी मीटरिंग व कन्ज्यूमर मीटरिंग की स्थिति, खराब मीटरों को बदलने की प्रगति, एटीएण्डसी लॉस में कमी व सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज शिकायतों के निस्तारण की प्रगति सहित डीडीयूजीजेवाई व आइपीडीएस योजनाओं के क्लोजर की स्थिति की विस्तार से समीक्षा की गई।