गोबर से बने करोड़ों दीपक से रोशन होगा देश

0
56

गीतांजलि पोस्ट(श्रेयांस)….जयपुर:- 

कामधेनु आयोग की पहल पर इस बार गौ धन दिवाली

इस बार दिवाली त्योंहार के दौरान गाय के गोबर और पंचगव्य उत्पादों के उपयोग को बढ़ावा दिया जा रहा है। राष्ट्रीय कामधेनु आयोग ने इस साल दिवाली के अवसर पर ‘कामधेनु दिवाली, मनाने का अभियान शुरू किया है। इस अभियान के माध्यम से आयोग द्वारा दिवाली पर गाय के गोबर और पंचगव्य उत्पादों के उपयोग को बढ़ावा दिया जाएगा। गोबर आधारित दीयों, मोमबत्तियों, धूप, अगरबत्ती, शुभ-लाभ, स्वस्तिक, स्मरणी, हार्डबोर्ड, वॉल-पीस, पेपर-वेट, हवन सामग्री, भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की मूर्तियों का निर्माण पहले ही शुरू हो चुका है।
इस वर्ष दिवाली त्योंहार के दौरान 11 करोड़ परिवारों में गाय के गोबर से बने 33 करोड़ दीयों को प्रज्जवलित करना है। लगभग 3 लाख दीयों को अयोध्या में ही प्रज्वलित किया जाएगा और 1 लाख दीये वाराणसी में जलाए जाएंगे। हजारों गाय आधारित उद्यमियों को व्यवसाय के अवसर पैदा करने के अलावा, गाय के गोबर से बने उत्पादों के उपयोग से स्वच्छ और स्वस्थ वातावरण भी मिलेगा। यह गौशालाओं को आत्मनिर्भर बनाने में भी मदद करेगा। यह अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया की परिकल्पना और अभियान को बढ़ावा देगा। इससे पर्यावरण के नुकसान को रोकने में मदद मिलेगी।

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग के अध्य्क्ष वल्लभ भाई कथिरिया के अनुसार प्रधानमंत्री की अपील पर इस साल गणेश महोत्सव के लिए भगवान गणेश की मूर्तियों के निर्माण में पर्यावरण के अनुकूल सामग्री का उपयोग करने के लिए सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्मों पर एक राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू किया था। राष्ट्रीय कामधेनु आयोग का गठन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से गायों और गौवंश के संरक्षण, सुरक्षा और विकास तथा पशु विकास कार्यक्रम को दिशा प्रदान करने के लिए किया गया है। मवेशियों से संबंधित योजनाओं के बारे में नीति बनाने और कार्यान्वयन को दिशा प्रदान करने के लिए एक उच्चशक्ति वाला स्थायी निकाय है ताकि आजीविका उत्पादन पर अधिक जोर दिया जा सके।